भिन्न विचारधाराओं के बावजूद आपसी भरोसा ही लोकतंत्र की ताकत: प्रधानमंत्री मोदी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 30, 2021   16:38
भिन्न विचारधाराओं के बावजूद आपसी भरोसा ही लोकतंत्र की ताकत:  प्रधानमंत्री मोदी

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा ऑनलाइन कार्यक्रम के दौरान राजस्थान में कुछ परियोजनाओं और राज्य के विकास को आगे बढ़ाने के बारे मेंआग्रह किये जाने पर मोदी ने उन्हें धन्यवाद दिया।

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि राजनीतिक पार्टियां और विचारधारा अलग अलग होने के बावजूद आपसी भरोसा ही लोकतंत्र की ताकत है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा ऑनलाइन कार्यक्रम के दौरान राजस्थान में कुछ परियोजनाओं और राज्य के विकास को आगे बढ़ाने के बारे मेंआग्रह किये जाने पर मोदी ने उन्हें धन्यवाद दिया। मोदी ने कहा कि ‘‘अभी जब मैं राजस्थान के मुख्यमंत्री को सुन रहा था तब उन्होंने एक लंबी सूची कामों की बता दी.. मैं राजस्थान के मुख्यमंत्री का धन्यवाद करता हूं कि उनका मुझ पर इतना भरोसा है और लोकतंत्र में यही बहुत बड़ी ताकत है।’’

इसे भी पढ़ें: मैं कांग्रेस से इस्तीफा दे दूंगा, लेकिन भाजपा में शामिल नहीं हो रहा: अमरिंदर सिंह

उन्होंने कहा, ‘‘उनकी (गहलोत) राजनीतिक विचारधारा और पार्टी अलग है और मेरी राजनीतिक विचारधारा, पार्टी अलग है लेकिन अशोक जी का मुझ पर जो भरोसा है उसी के कारण आज उन्होंने दिल खोलकर बहुत सी बातें रखी हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ यह दोस्ती, यह विश्वास, यह भरोसा यह लोकतंत्र की बहुत बड़ी ताकत है। मैं राजस्थान के लोगों का हृदय से अभिनंदन करता हूं.. बहुत बहुत बधाई देता हूं।’’

इसे भी पढ़ें: Online दूल्हा-दुल्हन खोजने वाले हो जाएं सावधान, ऐसे फंसा रहे हैं ठग अपने जाल में

राजस्थान में बांसवाड़ा, सिरोही, हनुमानगढ, और दौसा के मेडिकल कॉलेज के शिलायान्स और जयपुर में पेट्रोकेमिकल्स तकनीकी संस्था के लोकार्पण कार्यक्रम को ऑनलाइन संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री से जोधपुर में चिकित्सा उपकरण पार्क और कोटा में दवा पार्क की स्वीकृति के लिये आग्रह किया था। उन्होंने केन्द्र और राज्य सरकार के संयुक्त तत्वावधानी वाली कंपनी आरडीपीएल में दवा विनिर्माण की समीक्षा कर सहयोग मांगा था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।