सुशील मोदी की चुनौती, कहीं से भी चुनाव लड़ लें नीतीश कुमार, जब्त होगी जमानत, JDU का पलटवार

Sushil Kumar Modi
ANI
अंकित सिंह । Sep 19, 2022 9:06PM
भाजपा के वरिष्ठ नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तथा कभी नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले सुशील मोदी ने साफ तौर पर कहा है कि नीतीश कुमार फूलपुर या कहीं से चुनाव लड़े जमानत जब्त होगी।

2024 चुनाव को लेकर अब तैयारियां शुरू हो चुकी है। विपक्षी एकता को मजबूत करने की कोशिश में जुटे नीतीश कुमार अब सीधे तौर पर नरेंद्र मोदी को चुनौती देने की कोशिश में हैं। बिहार में भाजपा के साथ गठबंधन से अलग होने के बाद नीतीश कुमार सीधे तौर पर नरेंद्र मोदी को चुनौती देते दिखाई दे रहे हैं। सूत्रों का दावा है कि नीतीश कुमार मोदी के ही रास्तों पर चलकर 2024 में प्रधानमंत्री पद की दावेदारी को पेश कर सकते हैं। दरअसल, खबर यह है कि 2024 में नीतीश कुमार उत्तर प्रदेश के फूलपुर या फिर मिर्जापुर से चुनाव लड़ सकते हैं। इसके अलावा बिहार के 1 सीट से चुनाव लड़ेंगे। हालांकि इसकी औपचारिक पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन भाजपा अब इसको लेकर नीतीश कुमार पर हमलावर हो गई हैं। भाजपा के वरिष्ठ नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तथा कभी नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले सुशील मोदी ने साफ तौर पर कहा है कि नीतीश कुमार फूलपुर या कहीं से चुनाव लड़े जमानत जब्त होगी। 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से 100 किलोमीटर दूर, UP की इस सीट से चुनाव लड़ सकते हैं नीतीश कुमार, कभी नेहरू ने लगाई थी जीत की हैट्रिक

सुशील मोदी ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए और लिखा कि यूपी में बूआ-बबुआ मिलकर भी भाजपा को रोक नहीं पाये। जदयू बिहार में केवल दो सीट जीतने का हस्र न भूले। मोदी ने कहा नीतीश कुमार कहीं से भी लोकसभा का चुनाव लड़ें, जनता उन्हें बुरी तरह पराजित करेगी और वे अपनी जमानत भी नहीं बचा पाएँगे। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि प्रधानमंत्री पद का सपना देखने वाले नीतीश कुमार भाजपा के बढते जनाधार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता से इतना डरे हुए हैं कि वे बिहार से संसदीय चुनाव लड़ने के बजाय यूपी में सपा के गढ़ फूलपुर और मिर्जापुर से प्रत्याशी बनने की सोच रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2014 में बिहार की 40 सीटों में से जदयू सिर्फ दो पर जीता था। उसमें भी नालंदा संसदीय सीट पर मात्र 8 हजार वोटों के अंतर से उसकी प्रतिष्ठा बची थी। इस बार भाजपा 35 से ज्यादा सीटें जीत कर 2014 की सफलता दोहरायेगी।

इसे भी पढ़ें: '...जो बिहार में हुआ वो पूरे देश में होने जा रहा है', रोजगार के बहाने तेजस्वी का भाजपा पर निशाना

मोदी ने साफ तौर पर कहा कि जिस पार्टी का यूपी के विधानसभा चुनाव में भी खाता नहीं खुलता, उसके नेता नीतीश कुमार दो लड़कों के कहने पर वहां की किसी सीट पर लड़ें, उनकी जमानत जब्त होगी। जदयू की ओर से भी पलटवार किया गया है। जदयू के वरिष्ठ नेता और मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने पलटवार करते हुए साफ तौर पर कहा कि 9 अगस्त 2022 को महागठबंधन के आकार में आने के बाद से ही भाजपा के नेता परेशान है। उन्होंने साफ तौर पर कहा है कि नीतीश कुमार फिलहाल विपक्षी एकजुटता को मजबूत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता है गैर भाजपा दलों को एकजुट करना। जब चुनाव आएगा तो पार्टी का नेतृत्व तय करेगा कि क्या कुछ करना है। लेकिन यह स्पष्ट हो चुका है कि भाजपा बेचैन है। भाजपा को एहसास की जो 2015 के विधानसभा चुनाव में हुआ वह एक बार फिर से ना हो जाए। 

अन्य न्यूज़