मान गये तेज प्रताप यादव, ऐश्वर्या से तलाक की अर्जी वापस लेंगे !

मान गये तेज प्रताप यादव, ऐश्वर्या से तलाक की अर्जी वापस लेंगे !

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने अपना अडियल रुख छोड़ दिया है और वह जल्द ही पटना लौटकर फैमिली कोर्ट में दाखिल की गयी तलाक की अर्जी वापस ले सकते हैं।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने अपना अडियल रुख छोड़ दिया है और वह जल्द ही पटना लौटकर फैमिली कोर्ट में दाखिल की गयी तलाक की अर्जी वापस ले सकते हैं। राजद के विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक 19 नवंबर को जब राबड़ी देवी दिल्ली में थीं तब तेज प्रताप ने उनसे मुलाकात की थी। इस दौरान माँ अपने बड़े बेटे तेज प्रताप को मनाने में सफल रही थीं। बताया जा रहा है कि राबड़ी एक केस के सिलसिले में दिल्ली आई थीं तभी तेज प्रताप आकर उनसे मिले। इसके अलावा तेज प्रताप के ससुराल वालों और लालू प्रसाद यादव के दामाद राहुल यादव भी काफी समय से प्रयास कर रहे थे कि सारा मामला सुलझ झाये और तेज प्रताप तथा ऐश्वर्या का तलाक नहीं हो पाये।

बताया जा रहा है कि तेज प्रताप अपने परिजनों की बात अब सुन रहे हैं और उनका गुस्सा कम हो गया है। हालांकि जब वह रांची जेल में बंद अपने पिता से मिले थे और लालू यादव ने उनको खूब डांट लगायी थी तब तेज प्रताप आवेश में आ गये थे और घर परिवार छोड़ कर मथुरा-वृंदावन और हरिद्वार की यात्रा पर चले गये। वह जितना परिवार के बारे में मीडिया से बात कर रहे थे उतना ही लालू परिवार की बदनामी हो रही थी। लालू और राबड़ी के संबंध तेज प्रताप के ससुर से बहुत अच्छे रहे हैं और वह कतई नहीं चाहते कि ऐश्वर्या से तलाक हो। तेजस्वी यादव भी अपने भाई के इस कदम से राजनीतिक नुकसान झेल रहे थे।

अब माना जा रहा है कि कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर तेज प्रताप घर लौटेंगे और सारे मामले का पटाक्षेप होगा। हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो पायी है कि तेज प्रताप को आखिरकार कैसे मनाया गया। लेकिन सूत्रों का यह जरूर कहना है कि परिवार ने उनको मनाने के लिए कई प्रयोग किये जिनमें तंत्र-मंत्र भी शामिल है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।