पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर थरूर ने केंद्र पर साधा निशाना, कही ये बात

पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर थरूर ने केंद्र पर साधा निशाना, कही ये बात

आपको बता दें तेल कंपनियों की ओर से आज एक बार फिर पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी की गई है। पेट्रोल के दाम 28 से 32 पैसे तो डीजल के दाम 33 से 37 पैसे तक बढ़ए गए हैं। दिल्ली में 1 लीटर पेट्रोल 99.41 रुपये और डीजल 90.77 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है।

पांच राज्यों के चुनाव खत्म होने के बाद अब एक बार फिर पेट्रोल डीजल की कीमतें बढ़ रही हैं। आज भी तेल कंपनियों की ओर से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाए गए हैं। पेट्रोल के दाम 28 से 32 पैसे तक बढ़े हैं तो वहीं डीजल के दाम 35 से 37 पैसे बढ़ोतरी की गई है। पेट्रोल और डीजल की की बढ़ती कीमतों पर शशि थरूर ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। 

शशि थरूर ने ट्वीट कर लिखा ईंधन की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी आम आदमी की अवमानना के समान है। उन्होंने कहा यह पूरी तरह से अनुमानित था आम नागरिक के लिए इस सरकार की अवमानना की पहचान कर- निर्धारण और मूल्य हेरफेर है। टैक्स बढ़ाना और कीमतों में हेरफेर करना इस सरकार की पहचान बन गई है, यह आम नागरिक की अवमानना है।

कांग्रेस केंद्र सरकार को महंगाई और रोजगार जैसे मुद्दों पर घेरकर अपने जनाधार को वापस पाने की हर मुमकिन कोशिश कर रही है। इसी कड़ी में कांग्रेस देश भर में केंद्र सरकार के खिलाफ 31 मार्च से 7 अप्रैल तक महंगाई मुक्त भारत अभियान चलाने जा रही है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा मोदी सरकार लोगों को कंगाल बना कर अपना खजाना भर रही है। उन्होंने कहा देश में लगातार महंगाई और तेल की कीमतों में इजाफा हो रहा है। इसी के खिलाफ राहुल गांधी और प्रियंका गांधी देशव्यापी प्रदर्शन में शामिल होंगे।

आपको बता दें तेल कंपनियों की ओर से आज एक बार फिर पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी की गई  है। पेट्रोल के दाम 28 से 32 पैसे तो डीजल के दाम 33 से 37 पैसे तक बढ़ए गए हैं। दिल्ली में 1 लीटर पेट्रोल 99.41 रुपये और डीजल 90.77 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है। मुंबई में लोग पेट्रोल 114.19 जबकि डीजल 98.50 प्रति लीटर खरीद रहे हैं। बता दे तेल कंपनियों ने 137 दिन बाद एक बार फिर पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ानी शुरू कर दी है। अब तक बीते 6 दिनों में पेट्रोल डीजल की कीमत 5 बार बढ़ाई जा चुकी है। बता दें यूक्रेन पर रूसी हमले की वजह से दुनिया भर में तेल और प्राकृतिक गैस की आपूर्ति बाधित होने की आशंका के चलते इन कीमतों में उछाल आया है। रूस और यूक्रेन की जंग की वजह से ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कच्चे तेल की कीमत  13 वर्षों की उच्चतम स्तर पर है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।