गुरु परंपरा से जुड़े पर्व पूरे भारतीय समाज को मनाने चाहिए: योगी आदित्यनाथ

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 9 2019 8:06PM
गुरु परंपरा से जुड़े पर्व पूरे भारतीय समाज को मनाने चाहिए: योगी आदित्यनाथ
Image Source: Google

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने श्री गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को लेकर एक कमेटी गठित की है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि गुरु परम्परा से जुड़े पर्व और त्यौहार सिर्फ सिख समाज तक सीमित नहीं रहने चाहिए बल्कि पूरे भारतीय समाज को मनाने चाहिए। योगी ने श्री गुरु नानकदेव जी महाराज के 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर कहा,  गुरु परम्परा से जुड़े पर्व और त्यौहार सिर्फ सिख समाज तक सीमित नहीं रहने चाहिए बल्कि पूरे भारतीय समाज को मनाने चाहिए। श्री गुरुनानक देव जी से जो परम्परा प्रारम्भ हुई और श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज तक जो शक्ति पुंज बनकर उभरा था, वह केवल खालसा पंथ और सिख समाज के लिए नहीं था बल्कि इस देश और धर्म की रक्षा के लिए उभरा था। राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया, ‘‘उत्तर प्रदेश के इतिहास में पहली बार मुख्यमंत्री आवास — पांच,कालीदास मार्ग पर मंगलवार को साहब श्री गुरुनानक देव जी महाराज के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित महान कीर्तन दरबार एवं लंगर का आयोजन किया गया।’’ 



 
इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने श्री गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को लेकर एक कमेटी गठित की है। कमेटी ने इस पूरे कार्यक्रम में सबकी सहभागिता सुनिश्चित की है, जिसमें सभी राज्य सरकारें सहभागी बनेंगी। देश का सबसे बड़ा राज्य होने के नाते यह गौरव हमें भी प्राप्त हो रहा है, जिसके तहत हम यहां मिल बैठकर कीर्तन का आयोजन कर रहे हैं। योगी ने कहा, ‘‘श्री गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव का कार्यक्रम पूरी भव्यता एवं दिव्यता के साथ मनाया जाना चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘श्री गुरुनानक देव जी से जुड़े हुए स्थलों के विकास के बारे में समाज और सरकार को मिलकर एक कार्य योजना बनानी चाहिए।’’ योगी ने कहा, ‘‘हम उत्तर प्रदेश में श्री गुरुनानक देव जी से जुड़े हुए उन स्थलों के बारे में सोचें, उनका विकास कैसे हो, वहां आने वाले श्रद्धालुजनों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए हम क्या कर सकते हैं, इस बारे में विचार करें। इसको लेकर मैंने पंजाबी अकादमी, पर्यटन विभाग, सूचना विभाग और अन्य सभी संबंधित विभागों से कहा है कि वे एक ठोस कार्य योजना बनाकर उसे लागू करें।’’ 


उन्होंने कहा, ‘‘श्री गुरु नानक जी का संदेश मानवता के लिए पूरे भारत का संदेश है। भक्ति, शक्ति, पुरुषार्थ और परिश्रम के हर क्षेत्र में सिख समाज आगे दिखता है।  इससे पहले कार्यक्रम में बोलते हुए अल्पसंख्यक कल्याण एवं सिचाईं राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख ने कहा,  यहां आए संतों का मैं ऋणी हूं कि वे यहां पधारे। ये सभी संत केवल सिख समाज को ही नहीं बल्कि पूरे भारतीय समाज को दिशा देने का कार्य कर रहे हैं।  सिख धर्म के संस्थापक श्री गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास पर मंगलवार को कीर्तन का आयोजन किया गया। अपने संबोधन से पहले मुख्यमंत्री ने करीब एक घंटे तक कीर्तन और शबद सुना। इसके बाद उन्होंने सिख समाज के संतों को अंग वस्त्र देकर उन्हें सम्मानित किया। वहीं सिख समाज के लोगों ने स्मृतिचिह्न तो मंत्री बलदेव सिंह औलख ने मुख्यमंत्री को सिरोपा भेंट किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा एवं केशव प्रसाद मौर्य, नगर विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना के साथ-साथ कई कैबिनेट मंत्री और सिख समाज के सैकड़ों लोग मौजूद थे।

 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video