फैजाबाद जंक्शन का नया नाम ‘अयोध्‍या कैंट होगा, सरकार ने दिया था फरमान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 23, 2021   17:57
फैजाबाद जंक्शन का नया नाम ‘अयोध्‍या कैंट  होगा, सरकार ने दिया था फरमान

मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘‘उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने फैजाबाद रेलवे जंक्शन का नाम अयोध्‍या कैंट करने का निर्णय लिया है।’’ एक अन्य ट्वीट में बताया गया, भारत सरकार ने फैजाबाद रेलवे जंक्शन का नाम अयोध्या कैन्ट करने के निर्णय पर सहमति दे दी है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिला स्थित फैजाबाद जंक्शन का नाम बदलकर अयोध्‍या कैंट करने का फैसला किया गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने शनिवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी। मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘‘उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने फैजाबाद रेलवे जंक्शन का नाम अयोध्‍या कैंट करने का निर्णय लिया है।’’ एक अन्य ट्वीट में बताया गया, भारत सरकार ने फैजाबाद रेलवे जंक्शन का नाम अयोध्या कैन्ट करने के निर्णय पर सहमति दे दी है। इस पर उत्तरप्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अधिसूचना जारी करने के लिए अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है।

इसे भी पढ़ें: UP चुनाव से पहले रामलला की शरण में केजरीवाल, 26 अक्टूबर को करेंगे अयोध्या का दौरा

फैजाबाद रेलवे स्टेशन की स्थापना सन 1874 में की गई थी और मौजूदा समय में यह उत्तर रेलवे के अंतर्गत आता है। यह लखनऊ-वाराणसी रेल मार्ग पर स्थित है। फैजाबाद जंक्शन से मुंबई, दिल्ली, अहमदाबाद, दुर्ग, कानपुर, लखनऊ, वाराणसी, अमृतसर, गोरखपुर, झांसी, आगरा कैंट, आगरा किला, मथुरा, जम्मू तवी, गुवाहाटी, ओखा, डिब्रूगढ़, छपरा, पटना, जयपुर, कोटा, जोधपुर, इंदौर, लुधियाना, धनबाद और प्रयागराज के लिए सीधी रेल सेवा उपलब्ध है।

इसे भी पढ़ें: भारत की ओर से ऑस्कर 2022 के लिए भेजी जाएगी तमिल फिल्म Koozhangal , निर्देशक ने शेयर की जानकारी

उल्लेखनीय है कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा की सरकार ने वर्ष 2018 में फैजाबाद जिला और मंडल का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया था। इसके अलावा भाजपा सरकार नेइलाहाबाद जिले का नाम बदलकर प्रयागराज और मुगलसराय जंक्शन (रेलवे स्टेशन) का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन कर दिया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।