जो पार्टी सैनिकों का सम्मान नहीं कर सकती, वो देश हित का नहीं सोच सकती --जयराम ठाकुर

जो पार्टी सैनिकों का सम्मान नहीं कर सकती, वो देश हित का नहीं सोच सकती --जयराम ठाकुर

मुख्यमंत्री ने कहा कि कारगिल के हीरो जिन्होंने अपने जीवन की परवाह किए बिना उस लड़ाई को लड़ा ही नहीं, उस लड़ाई को जीतने में अहम भूमिका निभाई; उस ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को भाजपा ने अपना प्रत्याशी बनाया है। उन्होंने लोगों से निवेदन करते हुए कहा कि ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को भारी मतों से विजयी कर दिल्ली भेजिए

नाचन।  मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को नाचन विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत जाछ और स्यांज में जनसभाएं की। इस दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कांग्रेस पर हमलावर होते हुए कहा कि कांग्रेसी नेताओं को यह बात रास नहीं आ रही कि भारतीय जनता पार्टी ने एक पूर्व सैनिक को प्रत्याशी बनाया है। इसीलिए कांग्रेस के नेता लगातार सेना और सैनिकों पर निशाना साध रहे हैं। जनता समझ सकती है कि जो पार्टी सेना का सम्मान नहीं कर सकती, वह कैसे देश हित के बारे में कुछ सोच सकती है।

इसे भी पढ़ें: मतदान केंद्रों में वेब-कास्टिंग से की जाएगी मतदान प्रक्रिया की निगरानी

जाछ और स्यांज में बारिश के बावजूद भारी संख्या में लोग जनसभा में मौजूद रहे। जाछ में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपने भाषण की शुरुआत बड़ा देव कमरूनाग के जयकारे के साथ की। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले तीन सालों से हमने गरीबों के लिए काम करने की कोशिश की है। ऐसी दर्जनों योजनाएं चलाई जिनका फायदा सीधा गरीब व्यक्ति को मिल रहा है। मुख्यमंत्री हिमकेयर योजना, सहारा योजना और मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना इसके उदाहरण हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा, “50 साल तक कांग्रेस सत्ता में रही लेकिन उसने कभी गरीबों के लिए काम नहीं किया। कांग्रेसियों को केवल सत्ता चाहिए थी, कुर्सी चाहिए थी। जब मैं सीएम बना तो अधिकारियों से पूछा कि गरीबों के लिए क्या-क्या योजनाएं हैं, उन्होंने जवाब दिया कि कोई योजना नहीं है। 50 साल तक सत्ता में रहने के बावजूद आम लोगों के लिए कांग्रेस ने कुछ नहीं किया। 

इसे भी पढ़ें: इस बार भी पहले की तरह मंडी की जनता ने भाजपा के पक्ष में मतदान करने की ठान ली है

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने हमेशा से ही सेना को सम्मान देने का काम किया है लेकिन कांग्रेस हमेशा सेना का अपमान करती रही है। मुख्यमंत्री ने चुटकी लेते हुए कहा कि कांग्रेस की स्थिति को देखते हुए कई बार मैं अपना सिर पकड़ लेता हूं कि आखिर कांग्रेस के इन नेताओं को क्या गया है। कांग्रेस में होड़ मची है कि कौन ज्यादा चिल्ला के बोल सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ज्यादा बोलने और ज्यादा उछल कूद से कोई नेता नहीं बनता है।

मुख्यमंत्री ने कहा, “वीरभद्र सिंह जी बहुत वरिष्ठ नेता थे, हम उनका सम्मान करते हैं। आज वीरभद्र जी हमारे बीच नहीं हैं। शायद कांग्रेस पार्टी को ये लगा कि उनकी सहानुभूति के कारण उनके परिवार को टिकट दिया जाना चाहिए, उसका लाभ होगा। हमारी पार्टी ने तय किया कि हम परिवार के लोगों को टिकट नहीं देंगे। वहीं एक परिवार ऐसा भी है जो पार्टी के दशकों से चला रहा है। हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि हमारी पार्टी में आम कार्यकर्ता को तरजीह दी जाती है। आज दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हिमाचल से हैं।”

जयराम ठाकुर ने कहा कि ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को हमने प्रत्याशी बनाया है यह कुछ लोगों को रास नहीं आया है। कहने लगे कि सेना के लोगों को राजनीति में नहीं आना चाहिए। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि एक सच्चे और ईमानदार आदमी को राजनीति मे क्यों नहीं आना चाहिए? ऐसे लोगों से आपको क्या परहेज है जिनकी वजह से हम आज चैन की नींद सोते हैं? हम लोग सैनिकों का कर्ज अदा कर ही नहीं सकते हैं।

सीएम ने कहा, मुझे इस बात की खुशी है कि जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनी है, आज हर सैनिक छाती चौड़ी करके चलता है। आज पाकिस्तान की एक गोली का जवाब गोले से दिया जाता है। इस दौरान उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक और कारगिल युद्ध का भी जिक्र किया। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के नेता सेना के जवानों पर टिप्पणी करते हैं। हमारी सरकार ने हमेशा शहीदों का सम्मान किया है। उनके परिवारों के लिए जो बन सकता था वो मदद की। कारगिल की लड़ाई को वो छोटी-मोटी लड़ाई मानते हैं। उन्होंने कहा जो पार्टी सैनिकों का सम्मान नहीं कर सकती, वो पार्टी इस देश के लिए अच्छी भावना भी नहीं रख सकती। इसी वजह से आज पूरे देश से कांग्रेस का सफाया हो रहा है। अपने भाषण में मुख्यमंत्री ने कारगिल शहीद पूर्ण चंद को भी याद किया जो नाचन विभानसभा से संबंध रखते थे।

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जब कांग्रेस की सरकार होती थी तो लाखों करोड़ के घोटाले होते थे। इन्होंने पूरे देश को लूट खाया। आज केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को सात वर्ष और प्रदेश में करीब चार साल हो गए, लेकिन विपक्ष के पास सरकार के खिलाफ बोलने के लिए कुछ नहीं है। अपने भाषण में मुख्यमंत्री ने कांग्रेस के स्टार प्रचारक कन्हैया कुमार और नवजोत सिंह सिद्धू पर भी चुटकी ली।

उन्होंने कहा कि नाचन विधानसभा क्षेत्र में भी करोड़ों के विकास कार्य हुए हैं। नाचन में लोगों की मांग पर यहां ब्लॉक दिया गया। आपको ब्लॉक चाहिए था, हमने ब्लॉक दिया। आपके यहां अटल आदर्श विद्यालय बहुत जल्दी बनकर तैयार होगा। कमरूनाग में हेलीपैड का निर्माण किया जाएगा, जिसका फायदा यहां आने वाले समय में श्रद्धालुओं के लिए होगा। आपने जो मांगा उसे पूरा करने की कोशिश हमने की है।

मुख्यमंत्री ने कहा मजाकिया अंदाज में कहा कि कोरोना काल में बहुत कुछ बदल गया। पिछले जो सालों से ये ‘छिकड़ा’ (मास्क) ही नहीं उतरा। हम सराजियों को नाटी डालने की आदत है। हमारा कोई भी काम नाटी के बिना पूरा नहीं होता था। इस कोरोना ने हमारी नाटी भी ‘खज्जल’ (खराब) की। अब नाटी का दौर भी आएगा और अब मौका मिलेगा तो लंबा फेरा लगेगा। नाटी से तो कांग्रेसी भी परेशान हैं। अभी तो पांच साल और नाटी देखनी पड़ेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ये सराजी नाटी है ये लंबी चलती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कारगिल के हीरो जिन्होंने अपने जीवन की परवाह किए बिना उस लड़ाई को लड़ा ही नहीं, उस लड़ाई को जीतने में अहम भूमिका निभाई; उस ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को भाजपा ने अपना प्रत्याशी बनाया है। उन्होंने लोगों से निवेदन करते हुए कहा कि ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को भारी मतों से विजयी कर दिल्ली भेजिए। पिछली बार नाचन विधानसभा क्षेत्र से 26 हजार की बढ़त मिली थी, इस बार इसे और बढ़ाना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम आपके बीच सहयोग और समर्थन मांगने आए हैं। एक साल बाद 2022 में भी आपके बीच पहुंच कर आपका आशीर्वाद लेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।