russia-ukraine crisis । सुषमा स्वराज का वह दिल छू लेने वाला ट्वीट जो आज फिर सुर्खियों में छाया

russia-ukraine crisis । सुषमा स्वराज का वह दिल छू लेने वाला ट्वीट जो आज फिर सुर्खियों में छाया

मोदी सरकार वहां से छात्रों को और सभी भारतीयों को सकुशल निकालने में लगातार प्रयास कर रही है। इसके लिए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाई लेवल मीटिंग कर रहे हैं। इन सबके बीच लोगों को सुषमा स्वराज की खूब याद आ रही है।

रूस ने यूक्रेन में सैन्य कार्रवाई कर दी है। रूस की सैन्य कार्रवाई दुनिया के लिए बड़ा चिंता का सबब बना हुआ है। भारत भी रूस की इस कार्रवाई से चिंतित है। भारत के लिए चिंता की बात तो यह भी है कि यूक्रेन में हजारों भारतीय छात्र फंसे हुए हैं और उन्हें वहां से निकालने की कोशिश भारत सरकार की ओर से की जा रही है। फंसे हुए लोगों को निकालने में कई दिक्कतें आ रही हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि रूस ने यूक्रेन के कई एयरबेस को उड़ा दिया है जिसकी वजह से यूक्रेन में सीधा विमान अब नहीं जा सकता है। भारत ने इसके लिए यूक्रेन के पड़ोसी मुल्कों से मदद मांगी है। पोलैंड, हंगरी और रोमानिया भारत की मदद कर रहे हैं। भारतीयों को योगदान से निकालने का प्रयास लगातार जारी है। हालांकि भारत में विद्यार्थियों के परिजन सरकार पर इस बात का आरोप लगा रहे हैं कि उसकी ओर से छात्रों को पहले निकालने का प्रयास नहीं किया गया।

हालांकि मोदी सरकार वहां से छात्रों को और सभी भारतीयों को सकुशल निकालने में लगातार प्रयास कर रही है। इसके लिए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाई लेवल मीटिंग कर रहे हैं। इन सबके बीच लोगों को सुषमा स्वराज की खूब याद आ रही है। दरअसल, सुषमा स्वराज के विदेश मंत्री रहते हुए भारत में संकट में विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने में खूब सक्रियता से काम किया था। विदेश मंत्री रहते हुए सुषमा स्वराज को कोई ट्वीट करता था तो उसका तुरंत जवाब भी मिल जाता था। दुनिया के किसी कोने में फंसे भारतीयों के मदद के लिए सुषमा स्वराज सामने आती थीं। इसी कड़ी में सुषमा स्वराज का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर फिर से वायरल हो रहा है। सुषमा स्वराज ने एक बार ट्वीट में कहा था कि अगर आप मंगल ग्रह पर भी फंसे हैं तो भी वहां का भारतीय दूतावास आपकी मदद करेगा।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका बोला- भारत-रूस के संबंध अमेरिका और रूस के संबंधों से अलग हैं, और इसमें कोई परेशानी की बात नहीं

भले ही सुषमा स्वराज आज हम सबके बीच नहीं हैं लेकिन उन्होंने जिस तरीके से भारतीयों को समय पर निकालने में सक्रिय भूमिका निभाई है उसकी चर्चा हर रोज होती है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सुषमा स्वराज की तारीफ करते हुए कहा था कि उन्होंने और उनके मंत्रालय ने सुशासन देने के लिए तथा दुनिया के किसी कोने में फंसे भारतीयों की मदद के लिए सोशल मीडिया का प्रभावी तरीके से इस्तेमाल किया था। एक यूजर ने मोदी जी सुषमा स्वराज के पदचिन्हों पर हैं... सभी भारतीयों को निकाला जाएगा। एक ने लिखा कि देश को हमेशा सुषमा स्वराज जी की कमी खलेगी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।