देश के युवाओं को राजनीति से दूर नहीं रहना चाहिए: मनीष सिसोदिया

Manish Sisodia
सिसोदिया दिल्ली के शिक्षा मंत्री भी हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे बहुत से तरीके हैं जिनके द्वारा पेशेवर युवा नीति निर्माण में शामिल हो सकते हैं।
नयी दिल्ली। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ‘शासन में उद्यमिता पर कक्षा’ के दौरान छात्रों से कहा कि देश के युवाओं को राजनीति से दूर नही रहना चाहिए बल्कि उन्हें शासन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए। हरियाणा के सोनीपत में अशोक विश्वविद्यालय के छात्रों को दिए अपने संबोधन में सिसोदिया ने कहा कि छात्रों के लिए यह समझना आवश्यक है कि एक सफल नीति के लिए ‘जनता से जुड़ना’ जरूरी है। उन्होंने कहा, “यदि आप बदलाव लाना चाहते हैं तो हमें राजनीति से दूर नही रहना चाहिए। देश के युवा नीतियों को प्रभावित कर सकते हैं और शासन व्यवस्था में शामिल हो सकते हैं। सरकार को कुशल और ज्ञानी पेशेवरों की जरूरत है।” 

इसे भी पढ़ें: द‍िल्‍ली में 1 नवंबर से नहीं खुलेंगे स्‍कूल, सिसोदिया बोले- शिक्षकों-अभिभावकों की सलाह से लिया फैसला

उन्होंने कहा, “छात्रों को यह समझना जरूरी है कि एक सफल नीति के लिए जनता से जुड़ना जरूरी है। सूचना के अधिकार के आंदोलन के दौरान विधि निर्माताओं और नीति निर्माताओं ने हमें शामिल किया। मैं तब राजनीति में नहीं था लेकिन हमने पर्याप्त संख्या में लोगों और हितधारकों को एकत्रित किया ताकि सरकार पर नीतिगत निर्णय लेने के लिए दबाव समूह बनाया जा सके। जब सरकार ने हमारी बात सुनी तब वह निति के लिए एक सकारात्मक संकेत था।” सिसोदिया दिल्ली के शिक्षा मंत्री भी हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे बहुत से तरीके हैं जिनके द्वारा पेशेवर युवा नीति निर्माण में शामिल हो सकते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़