किसानों के प्रदर्शन का समर्थन करने वालों को किया जा रहा अपमानित: सुखबीर सिंह बादल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 23, 2021   09:13
किसानों के प्रदर्शन का समर्थन करने वालों को किया जा रहा अपमानित: सुखबीर सिंह बादल

शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने आरोप लगाए कि सिरसा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई क्योंकि दिल्ली की सीमाओं पर वह किसान आंदोलन में लंगर सेवा और अन्य मानवीय सहायता पहुंचा रहे थे।

चंडीगढ़। शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने पार्टी के नेता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने की शुक्रवार को आलोचना की। दिल्ली पुलिस ने सिरसा पर डीएसजीएमसी का महासचिव रहते हुए धन के हेरफेर के आरोप मेंबृहस्पतिवार को मामला दर्ज किया। बादल ने आरोप लगाए कि सिरसा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई क्योंकि दिल्ली की सीमाओं पर वह किसान आंदोलन में लंगर सेवा और अन्य मानवीय सहायता पहुंचा रहे थे। अकाली दल के नेता ने केंद्र पर आरोप लगाया कि वह किसान आंदोलन का समर्थन करने वाले लोगों को ‘‘धमकी देकर’’ दबाने की युक्ति अपना रही है। 

इसे भी पढ़ें: ट्रैक्टर रैली के दौरान चार लोगों की हत्या की साजिश ! किसान नेताओं ने एक व्यक्ति को किया पेश 

उन्होंने आरोप लगाए कि केंद्र ने डीएसजीएमसी पर इसलिए कार्रवाई की कि वह किसान आंदोलन को सहायता देने में सबसे आगे है। बादल ने बयान जारी कर कहा, ‘‘किसान पहले दिन जब सिंघू बॉर्डर पर आए तब से लेकर आज तक डीएसजीएमसी किसानों के लिए लंगर चला रहा है।’’ बादल ने कहा कि यह ‘‘आश्चर्यजनक’’ है कि डीएसजीएमसी के अध्यक्ष मनजीत सिंह जीकेके खिलाफ जो शिकायत 2018 में की गई थी उसमें सिरसा एवं अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि सिरसा का नाम अब शामिल किया गया है जबकि मूल शिकायत में उनका नाम नहीं है, जबकि जीके का नाम हटा दिया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।