किसान आंदोलन को लेकर बोले केंद्रीय मंत्री, कहा - जो आंदोलन पर बैठे है, वे बता दे कि खत्म कब करेंगे

किसान आंदोलन को लेकर बोले केंद्रीय मंत्री, कहा - जो आंदोलन पर बैठे है, वे बता दे कि खत्म कब करेंगे

तोमर ने कहा कि हम किसानों के हित में प्रतिबद्ध रहे हैं। सात सालों में कृषि के क्षेत्र में अनेक ऐसे निर्णय लिए गए जो आम किसान के लिए लाभप्रद है। कृषि सुधार कानूनों के पक्ष में पूरा देश खड़ा है।

भोपाल। राजधानी भोपाल पहुंचे केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान आंदोलन को लेकर बड़ा बयान दिया है। तोमर ने कहा कि हम किसानों के हित में प्रतिबद्ध रहे हैं। सात सालों में कृषि के क्षेत्र में अनेक ऐसे निर्णय लिए गए जो आम किसान के लिए लाभप्रद है। कृषि सुधार कानूनों के पक्ष में पूरा देश खड़ा है। उन्होंने कहा कि जो लोग इसका विरोध कर रहे है अगर वे नए प्रस्ताव लेकर आएंगे तो उनसे बातचीत करेंगे। आंदोलन जिसने शुरू किया वह बता सकता है कब खत्म करेंगे।

इसे भी पढ़ें:किसान आंदोलन के चलते हाईवे की हालत हुई बदतर, NHAI को लिखना पड़ा पत्र 

वहीं केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार ज्योतिरादित्य सिंधिया ने चंबल का दौरा किया। इस दौरान उनका भव्य स्वागत हुआ। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी सिंधिया के साथ दिखे। सिंधिया के ग्वालियर चंबल में रोड शो पर नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कोई पावर सेंटर नहीं है। बीजेपी कार्यकर्ता कार्यालय ही पावर सेंटर है।

इसे भो पढ़ें:किसान नेता राकेश टिकैत की नई मांग, योगी आदित्यनाथ को बनाया जाए प्रधानमंत्री 

बता दें कि नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मुरुगन हमारे वरिष्ठ कार्यकर्ता हैं। उन्होंने अनेको दायित्व पर सफलतापूर्वक अपना काम किया। खुशी है कि प्रधानमंत्री मोदी ने ऐसे कार्यकर्ता को केंद्रीय परिषद में जगह दी है। तोमर ने कहा कि उनकी योग्यता का उनके अनुभव का उनके सूझबूझ का राज्यसभा के सदस्य के नाता प्रदेश की जनता और साथ ही साथ कार्यकर्ता लाभ लेगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।