लोकतंत्र की हत्या करने वाले आज सरकार पर सवाल उठा रहे हैं: जावड़ेकर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 25, 2020   15:37
लोकतंत्र की हत्या करने वाले आज सरकार पर सवाल उठा रहे हैं: जावड़ेकर

देश में आपातकाल का समय 1975 से 1977 के बीच 21 महीने के काल को कहा जाता है। इंदिरा गांधी उस समय देश की प्रधानमंत्री थीं।

नयी दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने देश में 1975 में आपातकाल थोपे जाने को लेकर कांग्रेस पर तीखा हमला बोला और कहा कि जिन्होंने 45 वर्ष पूर्व लोकतंत्र की हत्या की, वे आज सरकार पर सवाल उठा रहे हैं। जावड़ेकर ने आपातकाल लागू होने के 45 साल पूरे होने पर बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘मुझे आश्चर्य होता है कि जिन्होंने 45 साल पूर्व लोकतंत्र की हत्या की, आज वे सरकार पर सवाल उठा रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जिस पार्टी ने पूरे तंत्र को कुचल कर रख दिया, लोगों की आजादी छीन ली और हजारों लोगों, खासकर विपक्षी लोगों, को जेल भेज दिया, आज वे आजादी के नारे बुलंद कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा कि इस प्रकार की राजनीति को देश कभी स्वीकार नहीं करेगा। जावड़ेकर ने कहा, ‘‘25 जून 1975 को कांग्रेस ने एक परिवार को बचाने के लिए देश पर आपातकाल थोप दिया। इसके 45 साल बाद आज भी कांग्रेस वही कर रही है। एक परिवार को बचाने का काम।’’ देश में आपातकाल का समय 1975 से 1977 के बीच 21 महीने के काल को कहा जाता है। इंदिरा गांधी उस समय देश की प्रधानमंत्री थीं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।