2024 तक जेपी नड्डा ही संभालेंगे भाजपा की कमान, नए अध्यक्ष के लिए नहीं होगा चुनाव

JP Nadda
ANI
अंकित सिंह । Sep 26, 2022 4:41PM
2024 चुनाव को ध्यान में रखते हुए उनके कार्यकाल को बढ़ाया जा सकता है। राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने से पहले जेपी नड्डा भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष भी रह चुके हैं। जेपी नड्डा मोदी सरकार पार्ट 1 में केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं।

एक ओर जहा कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज है। तो वहीं, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा का भी कार्यकाल 2023 में खत्म हो रहा है। ऐसे में सवाल यही है कि भाजपा का अगला अध्यक्ष कौन होगा? सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक जेपी नड्डा का कार्यकाल 2024 तक बढ़ा दिया जाएगा। जेपी नड्डा ने 20 जनवरी 2020 को भाजपा अध्यक्ष पद की कमान संभाली थी। इस हिसाब से देखें तो उनका कार्यकाल 20 जनवरी 2023 को पूरा हो रहा है। 2024 चुनाव को ध्यान में रखते हुए उनके कार्यकाल को बढ़ाया जा सकता है। राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने से पहले जेपी नड्डा भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष भी रह चुके हैं। जेपी नड्डा मोदी सरकार पार्ट 1 में केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: दक्षिण में राजनीतिक पकड़ मजबूत करने की कोशिश में जुटी बीजेपी, जेपी नड्डा ने केंद्र सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों संग की बात

हालांकि, इससे पहले के अध्यक्ष यानी कि राजनाथ सिंह, अमित शाह को भी चुनाव से पहले एक्सटेंशन मिला था। इन दोनों के हाथों में भी भाजपा की कमान रह चुकी है। बात जेपी नड्डा की करें तो वह काफी साफ छवि के लिए जाने जाते हैं। इसके अलावा उनकी आरएसएस में भी पकड़ मजबूत है। हिमाचल प्रदेश की राजनीति में जेपी नड्डा का अपना कद है। इसके अलावा संगठन में भी उनका काम बेहतरीन रहा है। 2012 में पहली बार उन्हें राज्यसभा का सदस्य बनाया गया। बाद में मोदी सरकार ने उन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय जैसे बड़े मंत्रालय की जिम्मेदारी देखी। वर्तमान में देखें तो जेपी नड्डा 2024 चुनाव को लेकर अलग-अलग राज्यों का दौरा कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: 'हमने लाइसेंस राज को किया खत्म', जेपी नड्डा बोले- मोदी सरकार में हुआ समग्र विकास

जेपी नड्डा विपक्षी दलों पर जबरदस्त तरीके से हमलावर रहते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि जेपी नड्डा की इंग्लिश और हिंदी दोनों में पकड़ बेहद मजबूत है। जेपी नड्डा के अध्यक्ष रहते भाजपा ने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, असम जैसे राज्यों में जीत हासिल की है। इसके अलावा बिहार में भी गठबंधन में रहते हुए भाजपा को जीत मिली थी। जेपी नड्डा की अध्यक्षता में भाजपा ने पश्चिम बंगाल में अच्छा प्रदर्शन किया। उसने विधानसभा में दूसरे नंबर की पार्टी बनने में सफलता हासिल की। जेपी नड्डा अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी करीबी बताए जाते हैं।

अन्य न्यूज़