दिल्ली में IIT फ्लाइओवर के नीचे सड़क का एक हिस्सा धंसा, यातायात प्रभावित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 31, 2021   17:35
दिल्ली में IIT फ्लाइओवर के नीचे सड़क का एक हिस्सा धंसा, यातायात प्रभावित

लोकनिर्माण विभाग ने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) की एक भूमिगत लाइन में रिसाव के कारण सड़क का एक हिस्सा धंस गया। लोक निर्माण विभाग के प्रधान अभियंता शशि कांत ने बताया, “हमारे अभियंता मौके पर हैं और सड़क को ठीक कर रहे हैं।

नयी दिल्ली। आईआईटी-दिल्ली फ्लाइओवर के नीचे सड़क का एक हिस्सा राष्ट्रीय राजधानी में पिछले कुछ दिनों में हुई भारी बारिश के कारण धंस गया, जिससे शनिवार को इलाके में यातायात प्रभावित हुआ। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्विटर पर संदेश पोस्ट कर मुसाफिरों से वैकल्पिक मार्ग अपनाने के लिए कहा। यातायात पुलिस ने ट्वीट किया, “आईआईटी रेड लाइट (ट्रैफिक सिग्नल) के पास सड़क का एक हिस्सा धंस जाने के बाद अधचीनी से आईआईटी जा रहे यातायात को अधचीनी से कटवरिया सराय की तरफ मोड़ दिया गया है।” लोकनिर्माण विभाग ने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) की एक भूमिगत लाइन में रिसाव के कारण सड़क का एक हिस्सा धंस गया। लोक निर्माण विभाग के प्रधान अभियंता शशि कांत ने बताया, “हमारे अभियंता मौके पर हैं और सड़क को ठीक कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: असम के CM हिमंत ने मिजोरम सीमा पर हुई हिंसा की जांच तटस्थ एजेंसी से कराने की मांग की

डीजेबी की एक भूमिगत लाइन में रिसाव के कारण सड़क धंसी। रिसाव के कारण वहां सड़क नीचे से खराब हो गई थी। इसे प्राथमिकता के आधार पर देखा जा रहा है।” भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक शहर में शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे तक 43.6 मिलीमीटर बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिकों ने शाम तक मध्यम बारिश होने का अनुमान जताया है। आईएमडी ने शुक्रवार को ऑरेंज अलर्ट जारी कर शनिवार को मध्यम बारिश होने का अनुमान जताया था। साथ ही राष्ट्रीय राजधानी के निचले इलाकों में जलभराव की आशंका जताते हुए कई स्थानों पर यातायात बाधित होने की चेतावनी दी थी। विभाग ने रविवार के लिए ‘येलो’ अलर्ट और सोमवार के लिए फिर से ‘ऑरेंज’ अलर्ट जारी किया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।