बिजनौर में माहौल खराब करने की बड़ी साजिश नाकाम, भगवा गमछा लपेटे दोनों युवक गिरफ्तार, मजारों में की थी तोड़फोड़

Prashant Kumar
ANI Image
उत्तर प्रदेश के बिजनौर में भगवा गमछा पहनकर दो युवकों ने माहौल को बिगाड़ने का प्रयास किया। एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि अगर पुलिस और प्रशासन सतर्क नहीं होता तो बड़ी घटना हो सकती थी। हमने संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज़ किया है। उनको न्यायिक हिरासत में भेजा जाएगा।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बिजनौर में भगवा गमछा पहनकर दो युवकों ने माहौल को बिगाड़ने का प्रयास किया। ऐसे में पुलिस ने सतर्कता दिखाते हुए दोनों युवाओं को तत्काल प्रभाव से गिरफ्तार कर लिया। दरअसल, युवाओं ने 3 मजारों में तोड़फोड़ की और चादर को क्षति पहुंचाई। इन युवकों पर प्रदेश का माहौल बिगाड़ने का आरोप है। हालांकि पुलिस ने बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है।

इसे भी पढ़ें: क्या NDA में शामिल हो सकते हैं ओम प्रकाश राजभर ? भाजपा के साथ बातचीत को लेकर दिया यह जवाब 

इस मामले को लेकर एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार का बयान सामने आया। जिसमें उन्होंने दोनों युवकों को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी दी। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि अगर पुलिस और प्रशासन सतर्क नहीं होता तो बड़ी घटना हो सकती थी। हमने संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज़ किया है। उनको न्यायिक हिरासत में भेजा जाएगा।

इसे भी पढ़ें: आजम खान के बेटे के फर्जी जन्म प्रमाण पत्र का मामला, उच्चतम न्यायालय ने खारिज की याचिका 

युवकों से हो सकती है पूछताछ

रिपोर्ट्स के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए दोनों युवकों से एसटीएफ पूछताछ कर सकती है। इन युवकों पर प्रदेश का माहौल बिगाड़ने का आरोप है। मजार में तोड़फोड़ करने वाले दोनों युवक एक-दूसरे के भाई बताए जा रहे हैं। जिनके नाम मोहम्मद कामिल और मोहम्मद आबिद है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़