जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गये

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 23, 2022   10:42
जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गये

जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में शनिवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गये। पुलिस ने यह जानकारी दी।

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में शनिवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गये। पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि जिले के किलबाल इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर कर तलाशी अभियान चलाया। प्रवक्ता ने बताया, ‘‘तलाशी अभियान के दौरान, संयुक्त तलाशी दल जब संदिग्ध स्थल की ओर बढ़ रहा था, तभी छिपे आतंकवादियों ने उनपर ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी।

इसे भी पढ़ें: विश्व बैंक ने पश्चिम बंगाल के लिए 1,000 करोड़ रुपये के कर्ज को दी मंजूरी

इसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गयी और दो आतंकवादी मारे गये।’’ उन्होंने बताया कि मुठभेड़ में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गये और उनका शव मौके से बरामद कर लिया गया है।

इसे भी पढ़ें: भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3.33 लाख केस मिले, मौतों की संख्या 4,89,409 हुई

उन्होंने बताया कि दोनों आतंकवादियों की पहचान समीर अहमद शाह और रईस अहमद मीर के रूप में की गयी है और दोनों क्रमश: शोपियां और पुलवामा के रहने वाले थे। पुलिस रिकार्ड के अनुसार दोनों कई आतंकी कार्रवाई में शामिल थे। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ स्थल से हथियार और गोला-बारूद सहित आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...