केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने केरल में भाजपा उम्मीदवारों के लिये किया प्रचार

Amit Shah
केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने बुधवार को सोना तस्करी मामले को लेकर मुख्यमंत्री पिनराई विजयन पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि माकपा नेता के घोटाले के मुख्य आरोपी से संबंध थे।

कोच्चि/कंजिरापल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने बुधवार को सोना तस्करी मामले को लेकर मुख्यमंत्री पिनराई विजयन पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि माकपा नेता के घोटाले के मुख्य आरोपी से संबंध थे। कोट्टायम जिले के कंजिरापल्ली विधानसभा क्षेत्र में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए शाह ने विजयन से पूछा कि सोना तस्करी की मुख्य आरोपी उनके कार्यालय में काम करती थी या नहीं? दक्षिणी राज्य में चुनाव प्रचार के दूसरे चरण की शुरुआत करते हुए शाह ने कहा, “मैं मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से इस सीधे सवाल का जवाब देने का आह्वान करता हूं- सोना तस्करी की मुख्य आरोपी आपके कार्यालय में काम करती थी या नहीं?”

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र और पंजाब के बाद अब देश के तीन अन्य राज्यों में बढ़े कोविड-19 के मामले

उन्होंने कहा, “क्या आपकी सरकार ने इस आरोपी को तीन लाख रुपये महीने का वेतन दिया या नहीं?” उन्होंने यह भी जानना चाहा कि विजयन के तत्कालीन प्रधान सचिव ने इन आरोपियों की मदद के लिये फोन किया था या नहीं? मामले के संबंध में केंद्रीय एजेंसियों द्वारा गिरफ्तार किये गए मुख्य आरोपी, स्वप्ना सुरेश और एम शिवशंकर का नाम लिये बगैर शाह ने पूछा, “क्या इस आरोपी महिला ने सरकारी खर्च पर प्रमुख सचिव की इजाजत से विदेश के दौरे किये थे?” भाजपा नेता ने पूछा, “आरोपी महिला नियमित रूप से मुख्यमंत्री आवास क्यों आती थी? क्या इस आरोपी महिला ने सरकारी खर्च पर प्रमुख सचिव की मंजूरी से विदेश दौरे किये?” वाम सरकार पर निशाना साधते हुए शाह ने आरोप लगाया कि उसने समूचे प्रशासन को अपने कैडर में तब्दील कर दिया।

इसे भी पढ़ें: ममता बनर्जी ने भाजपा को कहा बाहरी पार्टी, तिलक लगाने वाले लोगों पर किया ये कमेंट

सरकार के कथित भाई-भतीजावाद को लेकर नौकरी के इच्छुक लोगों द्वारा हाल में सचिवालय के बाहर सरकार द्वारा प्रदर्शन किये जाने के परोक्ष संदर्भ में उन्होंने कहा, “वाम दल अपने कैडर को सरकारी पद देने के लिये रिमोट कंट्रोल से लोक सेवा आयोग का संचालन करते हैं।” उन्होंने पूछा, “इसकी वजह से, पीएससी में ऊंची रैंक लाने के बावजूद नौकरी न मिलने पर एक छात्र ने खुदकुशी कर ली। क्यों? सिर्फ इसलिये क्योंकि वह आपके कैडर से नहीं था?” केरल में दो बार बाढ़ आने और 500 से ज्यादा लोगों की इसकी वजह से जान जाने का जिक्र करते हुए शाह ने आरोप लगाया कि वाम दलों ने अपने राजनीतिक फायदे के लिये हमारी सेना को काफी देर से बुलाया।

उन्होंने दावा किया, “उन्हें केरल के लोगों के जीवन की परवाह नहीं है।” पार्टी उम्मीदवारों के पक्ष में वोट मांगते हुए उन्होंने भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार द्वारा राज्य में किये गए विकास कार्यों को भी रेखांकित किया। केरल में 2000 मेगावॉट की एचवीडीसी परियोजना के हाल में हुए उद्घाटन का जिक्र करते हुए शाह ने कहा, “इस परियोजना में इस्तेमाल की जा रही सभी चीजें स्वदेशी हैं- आत्मनिर्भर भारत का इससे अच्छा उदाहरण नहीं हो सकता।” उन्होंने कहा कि कसारगोड में केंद्र सरकार द्वारा 50 मेगावाट क्षमता की एक और सौर ऊर्जा योजना विकसित की गई है। ‘अमृत’ योजना के तहत 11000 करोड़ रुपये की लागत से शहरों का उन्नयन किया जा रहा है। उन्होंन दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल में राजमार्गों के विकास के लिये 65000 करोड़ रुपये उपलब्ध कराए हैं।

शाह ने कहा कि कोच्चि मेट्रो के विकास के लिये केंद्र ने 1957 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं। उन्होंने कहा, “यह केरल में बदलाव लाने का समय है। ई श्रीधरन जैसे वरिष्ठ नौकरशाह भी भाजपा में शामिल हो रहे हैं क्योंकि वे जानते हैं कि सिर्फ भाजपा ही प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केरल का और विकास कर सकती है। एलडीएफ-यूडीएफ नहीं।” इससे पहले शाह ने विधानसभा के छह अप्रैल को होने वाले चुनावों में खड़े राजग के प्रत्याशियों के लिए चुनाव प्रचार अभियान शुरू करते हुए कोच्चि के निकट त्रिपुनिथुरा शहर में एक रोडशो किया।

रोडशो के दौरान पत्रकारों से बात करते हुए शाह ने सोने की तस्करी मामले को लेकर केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन पर निशाना साधा और उनसे यह बताने के लिए कहा कि क्या उनके पूर्व प्रमुख सचिव इस घोटाले में शामिल हैं? घोटाले की केंद्रीय एजेंसियों द्वारा की जा रही जांच पर स्पष्टीकरण देते हुए शाह ने कहा कि अगर देश में कोई भी घोटाला होता है तो उसकी जांच भारतीय एजेंसियां करेंगी, न की संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियां। शाह ने कहा कि राज्य के लोग विपक्षी दल यूडीएफ और सत्तारूढ़ एलडीएफ के विकल्प के तौर पर भाजपा को देखते हैं। वरिष्ठ भाजपा नेता के एस राधाकृष्णन त्रिपुनीथुरा से पार्टी के उम्मीदवार हैं। पार्टी का शीर्ष नेतृत्व इसे ‘‘ए’’ श्रेणी का निर्वाचन क्षेत्र मानता है। कोच्चि साम्राज्य की पूर्व राजधानी से शुरू हुआ रोडशो पूर्णाथ्रइसा मंदिर के समीप खत्म हुआ।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़