हिमाचल में अनलॉक प्रक्रिया शुरू, सभी दुकानें सप्ताह में पांच दिन पांच घंटे खुलेंगी

हिमाचल में अनलॉक प्रक्रिया शुरू, सभी दुकानें सप्ताह में पांच दिन पांच घंटे खुलेंगी

सरकार अभी बाहरी राज्यों के लिए बसें नहीं चलाना चाहती है।उधर, प्रदेश में 31 मई से सभी दुकानें पांच घंटे खोलने के सरकार के फैसले के साथ ही पिछले करीब एक महीने से बंद शराब ठेकों के भी खुलने का रास्ता साफ हो गया है। सभी शराब ठेके भी इसी दिन से खुल जाएंगे।

शिमला। हिमाचल प्रदेश सरकार ने अनलॉक प्रक्रिया शुरू करने की मंजूरी दे दी है। सरकार ने सभी दुकानों और अन्य संस्थानों को 31 मई सोमवार से सप्ताह में पांच दिन सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक पांच घण्टों के लिए खोलने का निर्णय लिया है। सरकारी कार्यालय 30 प्रतिशत उपस्थिति के साथ कार्यशील रहेंगे। केवल चार कर्मचारियों वाले स्टेंड अलोन कार्यालय पूरी क्षमता के साथ खुले रहेंगे। यह निर्णय भी लिया गया कि दूध, ब्रेड और दवाइयों की दुकानें हमेशा की तरह शनिवार और रविवार को भी खुली रहेंगी।

इसे भी पढ़ें: कोरोना की स्थिति पर पीएम मोदी की देश भर के राज्यों और जिला अधिकारियों से चर्चा

प्रदेश के सभी शैक्षणिक संस्थान बन्द रहेंगे। इसी प्रकार सार्वजनिक परिवहन भी आगामी आदेशों तक निलम्बित रहेगा। 31 मई, 2021 को प्रातः 6 बजे से 7 जून, 2021 प्रातः 6 बजे तक प्रभावी होने वाले अतिरिक्त निर्देशों के अलावा सभी प्रतिबंध एवं छूट पूर्व में निर्धारित दिशा-निर्देशों के अनुसार जारी रहेंगे।प्रदेश के सभी शैक्षणिक संस्थान आगामी आदेशों तक बंद रहेंगे। इसी प्रकार सार्वजनिक परिवहन भी आगामी आदेशों तक निलंबित रहेगा। पांच जून तक परिवहन सेवाएं बहाल नहीं होंगी, लेकिन सरकार ने परिवहन विभाग से एसओपी और परिवहन निगम से तैयारी कर रखने के लिए कहा है। पांच जून को होने वाली कैबिनेट की बैठक में इस पर निर्णय लिया जाएगा। बताया जा रहा है कि विभाग 50 फीसदी ऑक्यूपेंसी के तहत बसें चलाने के नियम तैयार कर रहा है। सरकार अभी बाहरी राज्यों के लिए बसें नहीं चलाना चाहती है।उधर, प्रदेश में 31 मई से सभी दुकानें पांच घंटे खोलने के सरकार के फैसले के साथ ही पिछले करीब एक महीने से बंद शराब ठेकों के भी खुलने का रास्ता साफ हो गया है। सभी शराब ठेके भी इसी दिन से खुल जाएंगे।

  

इसे भी पढ़ें: हिमाचल में 31 मई तक बढाया गया कोरोना कर्फ्यू, मंत्रिमण्डल की बैठक में और भी बड़े निर्णय हुए

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश में ब्लैक फंगस के कारण 2 लोगों की मृत्यु होने पर चिंता जताई है। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वे कोविड-19 व ब्लैक फंगस के लक्षण नजर आते ही अस्पताल में उपचार करवाने के लिए पहुंचें। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस के कारण जिन 2 लोगों की मृत्यु हुई है, उन्हें बचाने के लिए हरसंभव प्रयास किए गए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 2 सप्ताह के भीतर कोरोना संक्रमण के एक्टिव केस 40 से घटकर 20,000 रह गए हैं लेकिन मृत्यु दर में कमी न आना चिंता की बात है। उन्होंने कहा कि सरकार ऑक्सीजन और उपचार की कमी के कारण किसी भी व्यक्ति को मरने नहीं देगी। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वे कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करें मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार ने प्रदेश के 18-44 आयुवर्ग के लोगों के लिए कोविशील्ड की 1,67,180 अतिरिक्त खुराकें आवंटित की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के आग्रह पर केन्द्र सरकार ने निःशुल्क खुराक के कोटे में 46,630 खुराकों की बढ़ोतरी की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश को वैक्सीन की निःशुल्क आपूर्ति के अंतर्गत जून, 2021 के पहले पखवाड़े के लिए कोविशील्ड की 2,99,400 खुराकें उपलब्ध करवाई जाएंगी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।