शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने ने सेब सीजन में विपणन, यातायात संचालन की समुचित व्यवस्था के निर्देश दिए

Suresh Bharswaj
सुरेश भारद्वाज ने हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड को मंडियों में सेब की ढुलाई को नियन्त्रित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बागवानों को मंडियों की वास्तविकता के प्रति जागरूक करने की आवश्यकता है ताकि वे चिन्तित न हों। उन्हें राज्य सरकार द्वारा किए गए प्रबंधों का अनुसरण करना चाहिए।

 शिमला   शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने आज यहां सेब सीजन के दृष्टिगत बागवानी उत्पाद विपणन एवं प्रसंस्करण (एचपीएमसी), कृषि उत्पाद विपणन निगम (एपीएमसी), हिमफैड और हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड की बैठक की अध्यक्षता की।

सुरेश भारद्वाज ने हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड को मंडियों में सेब की ढुलाई को नियन्त्रित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बागवानों को मंडियों की वास्तविकता के प्रति जागरूक करने की आवश्यकता है ताकि वे चिन्तित न हों। उन्हें राज्य सरकार द्वारा किए गए प्रबंधों का अनुसरण करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मंडियों में अच्छी गुणवत्ता वाले सेब को बेहतर दाम मिल रहे हैं इसलिए बागवानों को प्रदेश सरकार पर विश्वास बनाए रखना चाहिए।

शहरी विकास मंत्री ने उपायुक्त शिमला को सेब के सीजन के दृष्टिगत सड़कों की स्थिति की रिपोर्ट प्रदान करने के निर्देश दिए। उन्होंने उपायुक्त को ठियोग के क्यारटू गांव में तीन दिनों के भीतर सड़क के रख-रखाव के निर्देश दिए।

सुरेश भारद्वाज ने सेब के सीजन के दौरान यातायात की स्थिति के बारे में भी चर्चा की। पुलिस अधीक्षक शिमला मोनिका भुटुंगरू ने मंत्री को आश्वासन दिया कि सेब सीजन के दौरान विशेषकर मंडियों के निकट यातायात का सुचारू संचालन सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यातायात पुलिस कर्मियों की तैनाती के सभी प्रबन्ध किए जा चुके हैं।

एचपीएमसी के अध्यक्ष नरेश कुमार ने कहा कि मंडियों में अवैध गतिविधियों में लिप्त पाए जाने वाले लोगों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के कार्याें को रोकने के लिए मंडियों में सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे।

मंडियों में रेट गिरने पर बागवान निजी कंपनियों से अच्छे रेट की उम्मीद लगाए बैठे थे, लेकिन सेब खरीद करने वाली अडानी की कंपनी ने इस साल 10 साल पुराने रेट खोले हैं। 2011 में अडानी ने 65 रुपये प्रति किलो रेट पर सेब खरीद की थी। इस साल भी कंपनी करीब इसी रेट पर सेब खरीद शुरू करने जा रही है। इस साल प्रदेश में करीब साढ़े चार करोड़ पेटी सेब उत्पादन का अनुमान है। करीब 3 करोड़ पेटी सेब अभी मंडियों में जाना बाकी है।  

एचपीएमसी के प्रबंध निदेशक राजेश्वर गोयल, राज्य हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के प्रबंध निदेशक नरेश ठाकुर, हिमफेड के अध्यक्ष के.के. शर्मा, उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी और प्रदेश सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस बैठक में उपस्थित थे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़