भारत में 150 करोड़ के पार हुआ टीकाकरण का आंकड़ा, पीएम मोदी ने देशवासियों को दी बधाई

भारत में 150 करोड़ के पार हुआ टीकाकरण का आंकड़ा, पीएम मोदी ने देशवासियों को दी बधाई

प्रधानमंत्री ने अपने एक ट्वीट में कहा कि भारत उन सभी का आभारी है जो हमारे टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए काम कर रहे हैं। हम अपने डॉक्टरों, वैज्ञानिकों, इनोवेटर्स और स्वास्थ्यकर्मियों को धन्यवाद देते हैं जो लोगों का टीकाकरण कर रहे हैं। मैं सभी पात्र लोगों से टीका लेने का आग्रह करता हूं। आइए मिलकर COVID-19 से लड़ें।

देश ने कोविड वैक्सीनेशन की दिशा के आज एक बड़ा लक्ष्य हासिल कर लिया है। शुक्रवार को कोविड-19 रोधी टीकों की 81 लाख से अधिक खुराक दी गयी और इसी के साथ देश में टीकाकरण का आंकड़ा 150 करोड़ को पार कर गया। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर देशवासियों को बधाई दी है। प्रधानमंत्री ने लिखा कि टीकाकरण के मोर्चे पर एक उल्लेखनीय दिन! 150 करोड़ का मील का पत्थर पार करने पर हमारे देशवासियों को बधाई। हमारे टीकाकरण अभियान ने सुनिश्चित किया है कि कई लोगों की जान बची है। साथ ही, हम सभी को COVID-19 संबंधित प्रोटोकॉल का भी पालन करते रहना है।

प्रधानमंत्री ने अपने एक ट्वीट में कहा कि भारत उन सभी का आभारी है जो हमारे टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए काम कर रहे हैं। हम अपने डॉक्टरों, वैज्ञानिकों, इनोवेटर्स और स्वास्थ्यकर्मियों को धन्यवाद देते हैं जो लोगों का टीकाकरण कर रहे हैं। मैं सभी पात्र लोगों से टीका लेने का आग्रह करता हूं। आइए मिलकर COVID-19 से लड़ें। कोविड टीके की 150 करोड़ खुराक का आंकड़ा पार करने पर शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि यह ‘‘ऐतिहासिक उपलब्धि’’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में स्वास्थ्यकर्मियों की अनवरत कड़ी मेहनत के कारण हासिल की जा सकी। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार 91 फीसद से अधिक वयस्क जनसंख्या को टीकों की कम से कम एक खुराक दी जा चुकी है जबकि66 फीसद आबादी का पूर्ण टीकाकरण हो गया है। 

देश में 15-17आयु वर्ग के 22 फीसद किशोरों को कोविड-19 रोधी टीकों की पहली खुराक लग गयी है। इस आयुवर्ग के लाभार्थियों के लिए तीन जनवरी को कोविड-19 रोधी टीकाकरण शुरू किया गया था। मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार टीकाकरण के तीसरे चरण की शुरुआत के बाद से अबतक राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों में 18-44 साल के उम्रवर्ग के 51,14,33,066 लाभार्थियों को पहली खुराक जबकि 34,80,27,006 लोगों को दूसरी खुराक दी गयी। सरकार का कहना है कि 15-17 साल के उम्रवर्ग के 1,99,64,801 किशोरों को कोविड-19 रोधी टीकों की पहली खुराक दे दी गयी है। मंत्रालय के अनुसार अबतक कोविड-19 रोधी टीकों की 87,80,31,738 लाभार्थियों को पहली खुराक और 62,71,89,576को दूसरी खुराक दी गयी। मंत्रालय ने कहा कि देश में सबसे अधिक जोखिम वाले समूहों को कोविड से बचाव के उपाय के तौर पर टीकाकरण अभियान की शीर्षतम स्तर पर लगातार नियमित रूप से समीक्षा एवं निगरानी की जाती है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।