जन कल्याण की योजनाएं चाहते हैं तो भाजपा को वोट दें: अमित शाह

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 25, 2021   20:34
जन कल्याण की योजनाएं चाहते हैं तो भाजपा को वोट दें: अमित शाह

शाह ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ‘खेला होबे’ का नारा लगाकर लोगों को डराने का प्रयास कर रही हैं। उन्होंने दावा किया कि इस बार कोई ‘खेला’ नहीं होगा और हर कोई स्वतंत्र होकर अपना वोट डाल पाएगा।

बाघमुंडी/झाड़ग्राम/मेचेडा (पश्चिम बंगाल)। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की आलोचना करते हुए कहा कि उन्होंने पश्चिम बंगाल में ऑटोमोबाइल उद्योग नहीं लगने दिया और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने में विफल रहीं। शाह ने कहा कि अगर लोग जनकल्याण की योजनाएं चाहते हैं तो भाजपा को वोट दें और यदि वे घोटाले चाहते हैं तो तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में मतदान करें। राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण पुरुलिया की कुर्मी जाति के लोगों को संबोधित करते हुए शाह ने हर परिवार को रोजगार देने और उनकी में शिक्षा देने का वादा किया। उन्होंने जंगलमहल क्षेत्र में एम्स का निर्माण करने का भी वादा किया। शाह ने कहा, ‘‘शुरुआत में वाम दलों ने राज्य से निवेशकों को खदेड़ा। इसके बाद दीदी ने बंगाल से ऑटोमोबाइल उद्योग को निकाल दिया। वह रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने में विफल रही हैं।’’

शाह ने कहा, “यदि आपको योजनाएं चाहिए तो मोदी जी को वोट दें और अगर आपको घोटाले चाहिए तो अक्षम तृणमूल कांग्रेस को वोट दें। इसका निर्णय आपको ही करना है।” तृणमूल कांग्रेस पर “भ्रष्ट सरकार” चलाने का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा कि भाजपा बंगाल में “कट मनी” की संस्कृति समाप्त कर देगी। शाह ने कहा कि तृणमूल सरकार ने आदिवासी और कुर्मी जाति के मतदाताओं को नजरअंदाज किया है और सत्ता में आने पर हर कुर्मी और आदिवासी परिवार को रोजगार दिया जाएगा। उन्होंने कहा, “हम राज्य के हर आदिवासी और कुर्मी परिवार को नौकरी देंगे। आदिवासियों को उनके उत्पाद का एमएसपी नहीं मिलता। हम उनके उत्पाद को फसल की सूची में शामिल करेंगे ताकि उन्हें एमएसपी मिल सके।” उन्होंने कहा, “हम यह भी सुनिश्चित करेंगे कि कुर्मी परिवार के हर बच्चे को कक्षा 10 तक की शिक्षा उनकी में और मुफ्त मिल सके।” शाह ने क्षेत्र में शुद्ध पेयजल की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि तृणमूल सरकार ने पुरुलिया के निवासियों को “फ्लोराइड से दूषित पानी पीने पर मजबूर किया।” उन्होंने कहा, “हम पुरुलिया में 10,000 करोड़ रुपये की लागत से स्वच्छ पेयजल की परियोजना लाएंगे। दीदी ने आपको फ्लोराइड से दूषित पानी पीने पर मजबूर किया है।” 

इसे भी पढ़ें: TMC नेता शेख आलम का भड़काऊ बयान, भारत के मुसलमान बना सकते हैं 4 पाकिस्तान

शाह ने तृणमूल कांग्रेस पर ‘‘तुष्टीकरण की राजनीति’’ का आरोप लगाते हुए कहा कि बनर्जी खास समुदाय के तुष्टीकरण के लिए चाहती हैं कि राज्य में शिक्षा का माध्यम बंगाली की जगह उर्दू हो। बनर्जी पर हमला तेज करते हुए शाह ने कहा कि हर किसी की ‘दीदी’ के वायदे के बावजूद सत्ता में एक दशक रहने के बाद ‘‘दीदी सिर्फ अपने भतीजे की बुआ बनकर रह गईं।’’ शाह ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ‘खेला होबे’ का नारा लगाकर लोगों को डराने का प्रयास कर रही हैं। उन्होंने दावा किया कि इस बार कोई ‘खेला’ नहीं होगा और हर कोई स्वतंत्र होकर अपना वोट डाल पाएगा। राज्य में तूफानी चुनाव प्रचार कर रहे शाह ने कहा कि अब तृणमूल कांग्रेस के कुशासन को ‘‘अलविदा’’ कहने का समय आ गया है। शाह ने कहा कि माहिष्य और तेली जैसी कई जातियों को राज्य सरकार ने तुष्टीकरण की राजनीति के चलते आरक्षित श्रेणी में शामिल नहीं किया, लेकिन भाजपा के सत्ता में आने के बाद सभी पिछड़ी हिन्दू जातियों को ओबीसी सूची में शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘हम बंगाल को तुष्टीकरण मुक्त बनाएंगे जहां आप बिना किसी डर के दुर्गा पूजा और सरस्वती पूजा कर पाएंगे।’’ शाह ने कहा कि भाजपा के सत्ता में आने के बाद बंगाल में घुसपैठ पर अंकुश लगा दिया जाएगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...