आंध्र प्रदेश के तीन तटीय जिलों में तूफान जवाद को लेकर चेतावनी जारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 3, 2021   09:45
आंध्र प्रदेश के तीन तटीय जिलों में तूफान  जवाद  को लेकर चेतावनी जारी

आंध्र प्रदेश सरकार ने तीन उत्तरी तटीय जिलों में आधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं, क्योंकि चक्रवाती तूफान जवाद के शनिवार को बंगाल की खाड़ी के तट से टकराने की आशंका है।

अमरावती। आंध्र प्रदेश सरकार ने तीन उत्तरी तटीय जिलों में आधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं, क्योंकि चक्रवाती तूफान जवाद के शनिवार को बंगाल की खाड़ी के तट से टकराने की आशंका है। मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने बृहस्पतिवार को श्रीकाकुलम, विजयनगरम और विशाखापत्तनम के जिलाधिकारियों से बात की और तूफान के मद्देनजर उन्हें सभी एहतियाती कदम उठाने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों से कहा कि जहां भी जरूरत हो राहत शिविर लगाने की व्यवस्था करें।

इसे भी पढ़ें: भारत ने गैर-जीवाश्म ईंधन स्रोतों से 40 प्रतिशत बिजली उत्पादन क्षमता का लक्ष्य हासिल किया

जगन मोहन रेड्डी ने जिलाधिकारियों से कहा, ‘‘सुनिश्चित करें कि चक्रवाती तूफान के कारण किसी को कोई समस्या न हो। सतर्क रहें, खासकर निचले इलाकों और सर्वाधिक खतरे वाले क्षेत्रों के मामले में।’’ इस बीच, राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के आयुक्त के कन्ना बाबू ने कहा कि शुक्रवार रात से बंगाल की खाड़ी के तट पर 45-65 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से हवाएं चलने की संभावना है और शनिवार सुबह तक इन हवाओं की रफ्तार 70-90 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। चक्रवाती तूफान के परिणामस्वरूप उत्तरी तटीय जिलों में विभिन्न स्थानों पर मध्यम से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।