• NCB के निदेशक समीर वानखेड़े की कौन कर रहा है जासूसी? मुंबई पुलिस ने दिए जांच के आदेश

रेनू तिवारी Oct 13, 2021 10:03

मुंबई पुलिस आयुक्त ने एनसीबी के जोनल निदेशक समीर वानखेड़े द्वारा जासूसी के आरोपों की जांच का आदेश दिया है, जो हाल ही में क्रूज ड्रग बस्ट मामले की जांच की निगरानी कर रहे हैं। वानखेड़े ने पहले आरोप लगाया था कि मुंबई पुलिस के दो अधिकारी उसकी गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं।

हाल में एक क्रूज जहाज पर मादक पदार्थ का भंडाफोड़ करने के मामले की जांच कर रहे स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े ने मुंबई में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि दो पुलिस वाले उनकी गतिविधियों की निगरानी कर रहे थे। इस मामले में अब पुलिस ने जांच के आदेश दिए हैं। 

मुंबई पुलिस ने एनसीबी द्वारा जासूसी के आरोपों की जांच के आदेश दिए

मुंबई पुलिस आयुक्त ने एनसीबी के जोनल निदेशक समीर वानखेड़े द्वारा जासूसी के आरोपों की जांच का आदेश दिया है, जो हाल ही में क्रूज ड्रग बस्ट मामले की जांच की निगरानी कर रहे हैं। वानखेड़े ने पहले आरोप लगाया था कि मुंबई पुलिस के दो अधिकारी उसकी गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं। उन्होंने इसके लिए सीसीटीवी फुटेज भी जमा किया था। एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने इससे पहले मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नागराले को लिखित शिकायत दर्ज कराई थी। अब नागराले ने मामले की तत्काल जांच के आदेश दिए हैं। मुंबई पुलिस के एक अतिरिक्त आयुक्त ने जांच शुरू कर दी है और हेमंत नागराले को एक रिपोर्ट सौंपेंगे जिसके बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: नाबालिक स्टूडेंट के साथ वॉर्डन के पति ने किया बलात्कार, आत्महत्या के लिए भी उकसाया, अब मिली खतरनाक सजा 

एनसीबी निदेशक समीर वानखेड़े ने लगाया पुलिस पर जासूसी का आरोप

हाल में एक क्रूज जहाज पर मादक पदार्थ का भंडाफोड़ करने के मामले की जांच कर रहे स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े ने मुंबई में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि दो पुलिस वाले उनकी गतिविधियों की निगरानी कर रहे थे। एनसीबी के एक अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी। एनसीबी अधिकारी के अनुसार, वानखेड़े नियमित रूप से उपनगर ओशिवारा में कब्रिस्तान जाते थे, जहां उनकी मां को 2015 में उनकी मृत्यु के बाद दफनाया गया था। उन्होंने कहा कि कथित तौर पर ओशिवारा थाने के दो अधिकारी कब्रिस्तान गए और वानखेड़े की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी फुटेज लिया। वानखेड़े ने कथित निगरानी पर ध्यान दिया और मामले को लेकर महाराष्ट्र पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क किया। एनसीबी के अधिकारी ने कहा कि वानखेड़े ने शिकायत दर्ज कराई है कि उनकी गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है और इस दावे के समर्थन में ओशिवारा कब्रिस्तान के सीसीटीवी फुटेज भी संलग्न किए गए हैं।

इसे भी पढ़ें: महंगाई ने किया आम आदमी की नाक में दम! 13 दिन में दूसरी बार बढ़े CNG और PNG के दाम

महाराष्ट्र सरकार ने सभी आरोपों को किया खारिज

महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने मंगलवार को कहा कि राज्य सरकार ने पुलिस या किसी अन्य एजेंसी को स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल निदेशक समीर वानखेड़े की गतिविधियों पर नजर रखने का आदेश नहीं दिया है। क्रूज जहाज पर छापेमारी का नेतृत्व करने के बााद चर्चा में आए वानखेड़े ने सोमवार को शिकायत दर्ज कराई थी कि दो पुलिस अधिकारी उनका पीछा कर रहे थे। क्रूज पर छापेमारी के बाद अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को मादक पदार्थ मामले में गिरफ्तार किया गया था। वालसे पाटिल ने कहा, ‘‘सरकार ने पुलिस या राज्य के खुफिया विभाग को समीर वानखेड़े पर नजर रखने के लिए कोई आदेश नहीं दिया है। मैंने सुना है कि उन्होंने (वानखेड़े) पुलिस महानिदेशक से शिकायत की है। हम इस पर गौर करेंगे।’’

मंत्री ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि पुलिस उन पर नजर रख रही है।’’ एनसीबी के एक अधिकारी के अनुसार, वानखेड़े नियमित रूप से उपनगर ओशिवारा में कब्रिस्तान जाते थे, जहां उनकी मां को 2015 में उनकी मृत्यु के बाद दफनाया गया था। एनसीबी अधिकारी ने सोमवार को दावा किया था कि कथित तौर पर ओशिवारा थाने के दो अधिकारी कब्रिस्तान गए और वानखेड़े की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी फुटेज लिया।