हमारी सरकार बनी तो अर्धसैनिक बलों के जवानों को मिलेगा शहीद का दर्जा: राहुल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 23, 2019   13:17
हमारी सरकार बनी तो अर्धसैनिक बलों के जवानों को मिलेगा शहीद का दर्जा: राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को छात्रों के साथ संवाद के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा कि अर्धसैनिक बलों को शहीद का दर्जा मिलना चाहिए।

नयी दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव के बाद उनकी पार्टी की सरकार बनने पर देश के लिए प्राण न्यौछावर करने वाले अर्धसैनिक बलों के जवानों को भी  शहीद  का दर्जा देने की व्यवस्था की जाएगी। गांधी ने छात्रों के साथ संवाद के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा कि अर्धसैनिक बलों को शहीद का दर्जा मिलना चाहिए। अगर हमारी सरकार आयी तो उन्हें शहीद का दर्जा मिलेगा। 

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने दोहराया पुलवामा हमले के बाद मोदी के फोटो शूट कराने का आरोप

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भी कांग्रेस अध्यक्ष ने सीआरपीएफ जवानों को शहीद का दर्जा नहीं मिलने का मुद्दा उठाते हुए नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा था और कहा था कि मोदी के  न्यू इंडिया  में अपने प्राण न्यौछावर करने वाले जवानों को शहीद का दर्जा नहीं मिलता, लेकिन एक उद्योगपति को 30 हजार करोड़ रुपये का तोहफा आसानी से मिलता है। छात्रों के साथ बातचीत में गांधी ने देश की शिक्षा व्यवस्था में एक खास विचारधारा थोपे जाने का भी आरोप लगाया।

इसे भी पढ़ें: सर्वेक्षण में 84 प्रतिशत लोगों की पसंद बने Modi, राहुल गांधी को मिले सिर्फ 8 प्रतिशत वोट

उन्होंने कहा कि आप किसी भी विश्वविद्यालय में पूछ लीजिये। पता चलेगा कि कुलपति के पद पर एक विचारधारा और एक संगठन के लोग बैठाए जा रहे हैं। वे हिंदुस्तान के शिक्षा व्यवस्था को अपना औजार बनाना चाहते हैं। गांधी ने कहा कि हमें इन संस्थाओं को स्वायत्तता देनी है, पूरा धन देना है। यह नहीं कहना है कि उन्हें क्या करना है। यही हममें और उनमें फर्क है।  उन्होंने यह भी दावा किया कि भाजपा सरकार शिक्षा पर बजट में कटौती की है और वह शिक्षा को निजी समूहों के हाथों में सौंप रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...