योगी आदित्यनाथ ने कहा, असम में बार-बार आने वाली बाढ़ का समाधान करेगी भाजपा

Yogi Adityanath
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि असम में भाजपा के पुन: सत्ता में आने पर राज्य में बार-बार आने वाली बाढ़, घुसपैठ तथा चाय बागान मजदूरों से जुड़ी समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

उदारबोंद (असम)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि असम में भाजपा के पुन: सत्ता में आने पर राज्य में बार-बार आने वाली बाढ़, घुसपैठ तथा चाय बागान मजदूरों से जुड़ी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। उन्होंने विपक्षी कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह अपने शासन के दौरान पूर्वोत्तर राज्य में इन समस्याओं का समाधान करने में विफल रही। यह उल्लेख करते हुए कि राज्य में भाजपा के पुन: सत्ता में आने पर बाढ़ और घुसपैठियों जैसी समस्याओं का स्थायी समाधान किया जाएगा, योगी ने यहां एक चुनावी रैली में दावा किया कि राज्य में पिछले पांच साल में शांति, एकता और विकास सुनिश्चित हुआ है।

इसे भी पढ़ें: कृषि कानूनों पर अखिलेश यादव ने कहा- यही हालात रहे, तो देश फिर गुलाम हो जाएगा

न्होंने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में चाय बागानों और इसके मजूदरों को नई पहचान देने के लिए एक योजना लेकर आएगी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘पांच साल पहले (कांग्रेस के शासन के दौरान) असम के विकास पर कोई चर्चा नहीं हुई और राजनीतिक लाभ के लिए लोगों के बीच क्षेत्रों के आधार पर विभेद पैदा किया गया। बोडोलैंड, अवैध घुसपैठियों और उग्रवाद जैसी समस्याएं भी थीं।’’ योगी ने कहा, ‘‘लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में यह स्थिति बदल गई जिन्होंने ‘लुक ईस्ट’ नीति को ‘एक्ट ईस्ट’ नीति में बदल दिया।’’

इसे भी पढ़ें: छात्रों के लिए खुशखबरी! नए गाइडलाइंस फॉलो करके बढ़ा सकते हैं अपने अंक

उन्होंने दावा किया कि पूर्वोत्तर के राज्यों, खासकर असम में अब कोई उग्रवाद, कानून व्यवस्था से जुड़ी समस्या या घुसपैठ नहीं है। कांग्रेस पर अपना हमला जारी रखते हुए योगी ने कहा कि उसने 1952 में जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देते हुए वहां अनुच्छेद 370 लागू कर दिया जिससे वहां ‘‘आतंकवाद का रास्ता प्रशस्त हुआ।’’ भाजपा नेता ने कहा, ‘‘कांग्रेस ने वहां (जम्मू कश्मीर) जमीन खरीदने पर रोक लगा दी थी। लेकिन अब अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने के बाद देश के किसी भी हिस्से, यहां तक कि असम का भी कोई व्यक्ति वहां जमीन खरीद सकता है।’’

उन्होंने रेखांकित किया कि जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने अनुच्छेद 370 का डटकर विरोध किया था और कहा था कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है क्योंकि एक देश में दो संविधान, दो झंडे और दो प्रधानमंत्री नहीं हो सकते। योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अनुच्छेद 370 को खत्म कर मुखर्जी के सपने को पूरा किया और इस तरह कश्मीर में आतंकवाद का खात्मा हो रहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़