परिवारवाद के मुद्दे पर योगी ने साधा सपा, बसपा और कांग्रेस पर निशाना

Yogi
योगी ने मंगलवार को घाटमपुर और बांगरमऊ विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जनसभाओं में कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस के लिए परिवार ही पार्टी है, पार्टी ही देश है। ये लोग परिवार से बाहर देख ही नहीं सकते।
बांगरमऊ/घाटमपुर (उप्र)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सियासत में परिवारवाद पर प्रहार करते हुए इस मुद्दे पर सपा, बसपा तथा कांग्रेस को जमकर घेरा और कहा कि इन पार्टियों के उलट भाजपा में कोई बूथ स्तर का कार्यकर्ता भी मेहनत के बलबूते सत्ता के शीर्ष पर पहुंच सकता है। योगी ने मंगलवार को घाटमपुर और बांगरमऊ विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जनसभाओं में कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस के लिए परिवार ही पार्टी है, पार्टी ही देश है। ये लोग परिवार से बाहर देख ही नहीं सकते। ये परिवार के लिए ही जीते हैं और हर तरह की बेईमानी तथा भ्रष्टाचार को बढ़ावा देते हैं। उन्होंने कहा, क्या कांग्रेस, सपा, बसपा में कोई सोच सकता है कि परिवार के बाहर का कोई व्यक्ति अध्यक्ष या किसी अन्य महत्वपूर्ण पद पर बैठ सकता है? मगर भाजपा में बूथ स्तर का कोई सामान्य कार्यकर्ता अगर क्षमता रखता है तो वह पार्टी अध्यक्ष भी बन सकता है, मुख्यमंत्री भी बन सकता है और प्रधानमंत्री भी। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा के लिए देश ही परिवार है और देशहित को सर्वोपरि रखते हुए जब कोई पार्टी कार्य करती है तो सही मायने में लोकतंत्र फलीभूत होता है। योगी ने कहा, मैं प्रधानमंत्री मोदी का आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने अयोध्या की 500 वर्ष की टीस को भव्य राम मंदिर निर्माण का शिलान्यास कर दूर कर दिया है। यही तो रामराज्य है जहां क्षेत्र, भाषा, मत और मजहब के आधार पर नहीं, बल्कि सभी वर्गों के कल्याण के लिए काम हो। रामराज्य की अवधारणा को जमीन पर उतारने के लिए ही केन्द्र और उत्तर प्रदेश की सरकारें काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल खण्ड में बचाव का कार्य सबसे जरूरी था लेकिन गरीबों का ख्याल भी रखना था। सरकार ने ऐसे मुश्किल वक्त में गरीबों और किसानों को राहत देने की अनेक योजनाएं शुरू कीं। प्रवासी श्रमिकों और कामगारों को भरण-पोषण भत्ता और राशन की गारंटी भाजपा की सरकार में ही संभव हुआ है। 

इसे भी पढ़ें: अखिलेश ने UP सरकार पर साधा निशाना, कहा- आगामी विधानसभा चुनाव देश की राजनीति का भविष्‍य तय करेगा

योगी ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा, एक सरकार थी जो कहती थी कि हम 100 रुपये भेजते हैं तो गरीब तक 10 रुपये ही पहुंचते हैं। बाकी पैसा बिचौलिये खा जाते थे। मोदी सरकार में ही संभव हुआ है कि खाते में भेजा गया एक-एक पैसा उस गरीब व्यक्ति के पास ही जाता है। योगी ने किसी का नाम लिए बगैर कहा, सपा बसपा के समर्थन से चलने वाली कांग्रेस की तत्कालीन सरकार ने कहा था कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार किसका है, मगर भाजपा सरकार ने किसी की जाति, मत और मजहब देखे बगैर सभी को योजनाओं का लाभ दिलाया। योगी ने दावा किया, प्रदेश में किसी भी तरह की अराजकता की जगह नहीं है। पहले लोग प्रदेश में दंगे कराकर व्यवस्था को अस्त-व्यस्त करते थे। हमारे राज में एक भी दंगा नहीं हुआ और अगर किसी ने किया तो उससे उसकी भरपाई कराई गई। उसके पोस्टर लगवाए। दंगाइयों को मालूम है कि अगर दंगा किया तो उनका क्या हश्र होगा। प्रदेश में अगर कोई गौकशी करेगा तो उसे जेल जाना ही पड़ेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश का नौजवान पहले नौकरी के लिए भटकता था। पहले नौकरियां एक खास जाति के लिए गिरवी रख दी जाती थीं, वे भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाती थीं। मगर प्रदेश में पिछले साढ़े तीन साल में की गई एक भी नियुक्ति पर उंगली नहीं उठाई जा सकती।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़