टेस्ट विशेषज्ञों की मदद के लिए सिडनी पहुंचे बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 20, 2018   20:50
टेस्ट विशेषज्ञों की मदद के लिए सिडनी पहुंचे बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़

भारतीय टीम अपना पहला टी20 मैच बुधवार को ब्रिसबेन में खेलेगी लेकिन बांगड़ पृथ्वी साव, हनुमा विहारी जैसे खिलाड़ियों की मदद करेंगे जो अगले पांच दिन सिडनी में नेट सत्र में हिस्सा लेंगे।

नयी दिल्ली। आस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 श्रृंखला की शुरूआत भले ही कल से हो रही हो लेकिन भारतीय टीम प्रबंधन ने बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ को सिडनी भेज दिया है जिससे कि टेस्ट विशेषज्ञों की पांच दिवसीय प्रारूप की तैयारी में मदद की जा सके। टेस्ट श्रृंखला की शुरूआत छह दिसंबर से होगी। भारतीय टीम अपना पहला टी20 मैच बुधवार को ब्रिसबेन में खेलेगी लेकिन बांगड़ पृथ्वी साव, हनुमा विहारी जैसे खिलाड़ियों की मदद करेंगे जो अगले पांच दिन सिडनी में नेट सत्र में हिस्सा लेंगे।

इस फैसले की जानकारी रखने वाले बीसीसीआई के एक अधिकारी ने मंगलवार को पीटीआई को बताया, ‘‘बल्लेबाजी कोच बांगड़ हमारे एक थ्रोडाउन विशेषज्ञ नुवान और लाजिस्टिक मैनेजर के साथ सिडनी पहुंच चुके हैं। न्यूजीलैंड से टेस्ट विशेषज्ञ खिलाड़ी भी पहुंच चुके हैं जो 28 नवंबर से होने वाले प्रथम श्रेणी मैच से पूर्व बांगड़ के मार्गदर्शन में ट्रेनिंग करेंगे।’’ यह फैसला मुख्य रूप से इसलिए किया गया क्योंकि जो खिलाड़ी टी20 में हिस्सा नहीं ले रहे उनमें एक किशोर सलामी बल्लेबाज (पृथ्वी) और एक मध्यक्रम का युवा बल्लेबाज (हनुमा विहारी) है। 

अधिकारी ने कहा, ‘‘पृथ्वी और हनुमा दोनों पहली बार आस्ट्रेलिया दौरे पर गए हैं। 25 नवंबर तक वे बांगड़ के मार्गदर्शन में अजिंक्य रहाणे, मुरली विजय और पार्थिव पटेल के साथ ट्रेनिंग करेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘रवि (शास्त्री) वहां है और विराट (कोहली) और रोहित (शर्मा) जैसे सीनियर भी हैं इसलिए बेहतर यही है कि संजय आस्ट्रेलियाई हालात की अपनी समझ के साथ पहली बार दौरे पर गए खिलाड़ियों की मदद करें।’’

हालांकि मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा की तेज गेंदबाजी जोड़ी के कुछ दिनों में यहां पहुंचने की उम्मीद है और टेस्ट टीम के सदस्य न्यू साउथ वेल्स ग्रेड क्रिकेट के नेट गेंदबाजों का सामना करेंगे। बीसीसीआई अधिकारी ने कहा, ‘‘हमारे दूसरी पंक्ति के तेज गेंदबाजों के न्यूजीलैंड में होने और रणजी ट्राफी चलने के कारण हमने महसूस किया कि किसी ऐसे गेंदबाज को नहीं बुलाया जाए जो प्रतिस्पर्धी मैच खेल रहा है। हमने क्रिकेट आस्ट्रेलिया से बात की और न्यू साउथ वेल्स से अच्छे नेट गेंदबाज मुहैया कराए जाएंगे।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।