पुलवामा हमले के बाद ईस्ट बंगाल ने कश्मीर में खेलने पर चिंता जताई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 20, 2019   12:13
पुलवामा हमले के बाद ईस्ट बंगाल ने कश्मीर में खेलने पर चिंता जताई

पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी हमले के बाद सुरक्षा कारणों से मौजूदा चैम्पियन मिनर्वा पंजाब एफसी ने सोमवार को श्रीनगर में मैच खेलने से मना कर दिया था।

कोलकाता। ईस्ट बंगाल ने पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) से मंगलवार को एक बार फिर से रीयल कश्मीर के खिलाफ 28 फरवरी को श्रीनगर में होने वाले मैच को टालने की गुजारिश की। टीम ने हालांकि कहा कि अगर एआईएफएफ उनकी मांग को नहीं मानेगा और मैच करने पर अड़ा रहा तो टीम 28 फरवरी को श्रीनगर जाएगी। वे इस मामले में कानून की मदद नहीं लेंगे। ईस्ट बंगाल के अधिकारी देवव्रत सरकार ने कहा, ‘‘हम एआईएफएफ से मानवीय आधार पर इस पर विचार करने की अपील कर रहे हैं। खिताबी दौड़ में शामिल टीम ऐसी परिस्थितियों में नहीं खेल सकती। 

हम कोई कानूनी कदम नहीं उठाएंगे। अगर वे हमें मजबूर करते हैं, तो हम खेलेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘‘ हमारे टीम के कोच विदेशी है और टीम में छह विदेशी खिलाड़ी है जिन्होंने कश्मीर में खेलने पर चिंता जतायी है।’’आई-लीग के सीईओ सुनंदो धर ने कहा कि 28 फरवरी का मैच तय कार्यक्रम के अनुसार होगा। धर ने बताया, ‘‘हमने ईस्ट बंगाल के ई-मेल का जवाब दिया है। श्रीनगर में स्थिति नियंत्रण में है। यह कल (सोमवार) भी नियंत्रण में था। इसलिए ईस्ट बंगाल और रीयल कश्मीर के बीच का मैच 28 फरवरी को होगा।’’

इसे भी पढ़े: मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में भारतीय खिलाड़ी ने लगाई स्वर्ण पदक की हैट्रिक

ईस्ट बंगाल 16 मैचों के 32 अंकों के साथ आई-लीग तालिका में दूसरे स्थान पर है। वह शीर्ष पर काबिज चेन्नई सिटी एफसी से पांच अंक पीछे है। रीयल कश्मीर समान अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है। पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी हमले के बाद सुरक्षा कारणों से मौजूदा चैम्पियन मिनर्वा पंजाब एफसी ने सोमवार को श्रीनगर में मैच खेलने से मना कर दिया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।