विंबलडन में फेडरर की हुई वापसी, चोटिल मन्नारिनो को हराकर दूसरे दौर में बनाई जगह

विंबलडन में फेडरर की हुई वापसी, चोटिल मन्नारिनो को हराकर दूसरे दौर में बनाई जगह

आठ बार के विंबलडन चैम्पियन फेडरर दो सेट से एक से नीचे 6-4, 6-7 (3), 3-6, 6-2 के स्तर पर से वापस आ गए थे की अचानक मन्नारिनो चोटिल हो गए। फेडरर को वॉक ओवर मिल गया।

रोजर फेडरर मंगलवार को विंबलडन चैंपियनशिप के नौवें खिताब के लिए अपनी रेस की शुरुआत में ही बड़े झटके से बाल बाल बच गए। फेडरर ने पहले सेट में 26 सर्विस पॉइंट्स में से 22 जीता। इस दौरान उन्होंने 39 मिनट के ओपनर को एक बैकहैंड शॉट मारा। लेकिन मन्नारिनो के खेल की अपरंपरागत प्रकृति कभी भी फेडरर को अपने मैच की लय में नहीं हटने दिया।

फेडरर चौथे सेट में 4-2 की बढ़त के साथ सर्विस कर रहे थे, जब 41वीं रैंकिंग के मन्नारिनो वापसी का प्रयास करते हुए फिसल गए और उनका दाहिना घुटना मुड़ गया। उन्हे सेंटर कोर्ट पर चिकित्सिक सहायता दी गयी। जिसके बाद उन्होंने पहले सेट को पूरा करने के लिए लंगड़ा कर पारी खेली। किन्तु चोटिल होने के कारण अंत में फेडरर से हाथ मिला कर उन्होंने अपनी हार स्वीकार की। 

इसे भी पढ़ें: राफेल नडाल के बाद सेरेना विलियम्स ने भी ओलंपिक से नाम लिया वापस 

बहुत बुरा हुआ

फेडरर ने कहा कि बहुत बुरा हुआ है। "यह दिखाता है कि एक शॉट, एक मैच, एक सीज़न, एक कॅरियर के परिणाम को बदल सकता है। मैं उसे शुभकामनाएं देता हूं और मुझे उम्मीद है कि वह जल्दी ठीक हो जाएगा ताकि हम उसे कोर्ट पर वापस देख सकें। वह अंत में मैच जीत सकता था जाहिर है वो बेहतर खिलाड़ी थे, इसलिए मैं थोड़ा लकी जरूर रहा।" फेडरर इस साल के ग्रासकोर्ट ग्रैंड स्लैम में ड्रॉ में सबसे उम्रदराज व्यक्ति 39 साल के हैं, तीसरे दौर में जगह बनाने के लिए फ्रांस के रिचर्ड गास्केट या जापान के युइची सुगिता से भिड़ेंगे।