Happy Birthday MS Dhoni: 38 के हुए कैप्टन कूल, जानिए माही से जुड़ी कुछ रोचक बातें

By निधि अविनाश | Publish Date: Jul 7 2019 1:54PM
Happy Birthday MS Dhoni: 38 के हुए कैप्टन कूल, जानिए माही से जुड़ी कुछ रोचक बातें
Image Source: Google

झारखंड की राजधानी रांची के एक सामान्य परिवार में आज के ही दिन 1981 को जन्मे महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी योग्यता और जुझारूपन से विश्व क्रिकेट में एक अनूठा मुकाम हासिल किया है। उनकी सफलताओं को देखते हुये उन्हें पद्म भूषण, पद्म श्री और राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।

दिल्ली। आज माही यानी की महेंद्र सिंह धोनी का जन्मदिन है। माही ने पत्नी साक्षी, बेटी जीवा और दोस्तों के साथ इंग्लैंड में अपना जन्मदिन मनाया। साक्षी ने सोशल मीडिया पर जन्मदिन के जश्न की कुछ तस्वीरें और वीडियोज भी शेयर किये हैं। झारखंड की राजधानी रांची के एक सामान्य परिवार में आज के ही दिन 1981 को जन्मे महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी योग्यता और जुझारूपन से विश्व क्रिकेट में एक अनूठा मुकाम हासिल किया है। उनकी सफलताओं को देखते हुये उन्हें पद्म भूषण, पद्म श्री और राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। 

माही के नाम से लोकप्रिय धोनी आईसीसी की तीनों विश्व प्रतियोगिताएं जीतने वाले इकलौते कप्तान हैं। इन दिनों धोनी टीम इंडिया के साथ इंगलैंड में जारी आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में खेल रहे हैं। ऐसी संभावना भी है कि भारतीय टीम का मौजूदा विश्व कप में अंतिम मैच महेंद्र सिंह धोनी के लिये भी आखिरी मुकाबला हो सकता है। कैप्टन कूल के नाम से मशहूर धोनी टीम इंडिया के वह सितारे हैं जिसने भारतीय क्रिकेट को बहुत कुछ दिया। शांत और अच्छे स्वभाव के माही ने भारतीय क्रिकेट में अपने 15 साल का सफर काफी मुश्किलों के साथ निकाला। आइये आज हम आपको बताते है कैप्टन कूल से जुड़ी कुछ रोचक बातें। 


इसे भी पढ़ें: IPL के दौरान ही रोहित शर्मा को लेकर युवराज सिंह ने कर दी थी यह भविष्यवाणी

धोनी का बचपन
धोनी का बचपन झारखंड के रांची में बीता तब वह अविभाजित बिहार का हिस्सा था। धोनी और उनका पूरा परिवार एक सरकारी क्वाटर में रहते थे। यह भी सुनने में शायद अजीब लगे लेकिन माही को क्रिकेट से पहले फुटबॉल और बैडमिंटन पंसद था। 10वीं क्लास से माही की रूची क्रिकेट में बढ़ी। माही के लिए क्रिकेट सबकुछ बन चुका था, 1998 में धोनी ने बिहार की अंडर-19 क्रिकेट टीम में हिस्सा लिया जिसमें उनकी परफॉर्मेंस की काफी तारीफ हुई। इसी बीच माही को टी.टी की नौकरी मिली जिसमें उन्होंने 2001 से 2003 तक कार्य किया। लेकिन क्रिकेट प्रेम के चलते धोनी ने टी.टी की नौकरी  बीच में ही छो़ड़ दी और अपने खेल पर ध्यान देने लगे। 2003-04 में अपने अच्छे परफॉर्मेंस की बदौलत माही ने भारतीय टीम में एंट्री पाई। 
 
धोनी की कप्तानी
बता दें कि क्रिकेट के भगवान सचिन ने ही माही को टीम इंडिया का कप्तान बनने की सिफारिश की थी। धोनी ने अपनी कप्तानी के समय काफी कारनामे किए। 2007 में एकदिवसीय क्रिकेट के विश्व कप में भारत की लचर प्रदर्शन रही पर धोनी ने उसी साल अपनी कप्तानी का लोहा मनवाते हुए पहले टी20 विश्व कप में भारत को विश्व विजेता बनाया। 2011 में माही की कप्तानी भारत 28 साल बाद विश्व चैंपियन बना। 2015 के विश्व कप में भी माही ने भारतीय टीम की कमान सभांली, भारत ने सभी 6 मैच जीते पर सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया से हार गई। 
2019 विश्व कप में माही को आ रही है दिक्कतें
2019 के इस विश्व कप में धोनी कैप्टन टीम में नहीं है। इस विश्व कप में धोनी की जमकर आलोचना भी हुई, धीमी पारी खेल रहे धोनी की सोशल मिडिया पर काफी आलोचना हुई। अफगानिस्तान के खिलाफ मैच में भी माही और केदार जाधव की काफी आलोचना हुई। धोनी के धीमी पारी से सचिन तेंदुलकर भी नाराज दिखें पर विराट कोहली उनका बचाव करते रहे। 
कैप्टन कूल की उपलब्धियां
धोनी की कप्तानी में भारत ने ICC के सभी प्रतियोगिताओं के टाइटल अपने नाम किए हैं जिसमें टी20 विश्व कप (2007), एकदिवसीय क्रिकेट का विश्व कप(2011) और चैंपियन्स ट्रॉफ़ी (2013) मुख्य रुप से शामिल हैं। धोनी ने ही भारत को टेस्ट में नंबर वन बनाया था। 
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video