चयनकर्ता सरनदीप ने कहा- यदि भारत चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरता है तो शार्दुल को टीम में रखूंगा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 11, 2021   12:25
  • Like
चयनकर्ता सरनदीप ने कहा- यदि भारत चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरता है तो शार्दुल को टीम में रखूंगा

पूर्व राष्ट्रीय चयनकर्ता सरनदीप सिंह ने कहा, यदि भारत चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरता है तो शार्दुल को टीम में रखूंगा।सरनदीप का चयनकर्ता के रूप में कार्यकाल इस साल के शुरू में आस्ट्रेलियाई दौरे के साथ समाप्त हो गया था। उन्होंने शार्दुल को सिराज पर प्राथमिकता उनके बल्लेबाजी कौशल के कारण दी।

नयी दिल्ली। पूर्व राष्ट्रीय चयनकर्ता सरनदीप सिंह का मानना है कि भारत यदि न्यूजीलैंड के खिलाफ साउथम्पटन में होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के लिये चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरता है तो उसे मोहम्मद सिराज के बजाय शार्दुल ठाकुर को अंतिम एकादश में शामिल करना चाहिए। सरनदीप का चयनकर्ता के रूप में कार्यकाल इस साल के शुरू में आस्ट्रेलियाई दौरे के साथ समाप्त हो गया था। उन्होंने शार्दुल को सिराज पर प्राथमिकता उनके बल्लेबाजी कौशल के कारण दी।

इसे भी पढ़ें: मेस्सी, डि मारिया और एगुएरो कोपा अमेरिका के लिये अर्जेंटीना की टीम में शामिल

शार्दुल ने ऑस्ट्रेलिया में अपनी इस योग्यता का अच्छा नमूना पेश किया था। वर्तमान की परिस्थितियों के अनुसार भारत 18 जून से शुरू होने वाले मैच में तीन तेज गेंदबाजों तथा दो स्पिनरों आर अश्विन और रविंद्र जडेजा के साथ उतर सकता है। सरनदीप ने कहा, यदि बादल छाये रहते हैं तो तब आप इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के साथ एक अतिरिक्त तेज गेंदबाज के साथ खेल सकते हो। मैं चौथे तेज गेंदबाज के रूप में शार्दुल का चयन करूंगा हालांकि सिराज ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा, आपको निचले क्रम में बल्लेबाजी के विकल्प भी चाहिए और शार्दुल यह विकल्प मुहैया कराता है। साउथम्पटन में गेंदबाजों को भी मदद मिलेगी और शार्दुल गेंद को स्विंग करा सकता है। उसे घरेलू क्रिकेट में कई साल का अनुभव है और क्रिकेट के मामले में उसका दिमाग काफी तेज है। सरनदीप ने कहा, यदि चौथा तेज गेंदबाज चुना जाता है तो जडेजा को बाहर बैठना होगा। अश्विन को खेलना चाहिए क्योंकि न्यूजीलैंड की टीम में बायें हाथ के काफी बल्लेबाज हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept