• टोक्यो ओलंपिक: कोरोना के खतरे के चलते उद्घाटन समारोह में कम से कम भारतीय खिलाड़ी होंगे शामिल

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के महासचिव राजीव मेहता ने कहा कि संक्रमण के जोखिम को देखते हुए ज्यादा खिलाड़ियों को उदघाटन समारोह में नहीं रखा जायेगा।

तोक्यो। कोविड-19 के खतरे को देखते हुए ओलंपिक खेलों के उद्घाटन समारोह में भारतीय खिलाड़ियों की भागीदारी कम से कम रखी जायेगी और दल से सिर्फ छह अधिकारियों को ही इसमें हिस्सा लेने की स्वीकृति मिली है। भारत के मिशन उप प्रमुख प्रेम कुमार वर्मा ने बुधवार को पीटीआई को बताया कि जिन खिलाड़ियों को अगले दिन प्रतियोगिता में हिस्सा लेना है उन्हें उद्घाटन समारोह में हिस्सा नहीं लेने की हिदायत दी गई है। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के महासचिव राजीव मेहता ने यहां कहा कि संक्रमण के जोखिम को देखते हुए ज्यादा खिलाड़ियों को उदघाटन समारोह में नहीं रखा जायेगा। मेहता ने कहा, ‘‘हम कम खिलाड़ियों को उतारने की कोशिश करेंगे। वहां (उदघाटन समारोह) कम से कम खिलाड़ियों को उतारा जायेगा। दल प्रमुख और उप दल प्रमुख कल खिलाड़ियों की संख्या पर फैसला करेंगे लेकिन हमारी राय है कि इस महत्वपूर्ण समय में उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिये कम से कम खिलाड़ियों को इसमें हिस्सा लेना चाहिए। ’’ 

इसे भी पढ़ें: टोक्यो ओलंपिक: भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ियों के लिए मुश्किल ड्रा, शरत-मनिका शुरूआती मैच में तीसरे वरीय से भिड़ेंगे 

खेलों में भारत के 120 से ज्यादा खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं जबकि भारतीय दल में अधिकारियों, कोचों और अन्य सहयोगी स्टाफ सहित कुल 228 सदस्य शामिल हैं। वर्मा ने यहां मिशन प्रमुखों की बैठक के बाद उन अधिकारियों के नाम का खुलासा नहीं किया जो इसमें शिरकत करेंगे। उन्होंने बताया, ‘‘समारोह में छह अधिकारियों (प्रत्येक देश से) को हिस्सा लेने की स्वीकृति दी जाएगी लेकिन खिलाड़ियों पर कोई सीमा लागू नहीं होगी। हालांकि जिन खिलाड़ियों की अगले दिन प्रतियोगिता है उन्हें हमने सलाह दी है कि वे समारोह में हिस्सा नहीं लें और अपने खेल पर ध्यान लगाएं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘समारोह के आधी रात तक चलने की उम्मीद है इसलिए यह बेहतर होगा कि वे अगले दिन होने वाली अपनी प्रतियोगिताओं के लिए आराम करें।’’

वहीं 10 मीटर एयर पिस्टल के निशानेबाज सौरभ चौधरी, अभिषेक वर्मा, अपूर्वी चंदेला और इलावेनिल वलारिवान की पहले दिन स्पर्धायें हैं जबकि मनु भाकर, यशस्विनी सिंह देसवाल, दीपक कुमार और दिव्यांश सिंह पंवार दूसरे दिन निशाना लगायेंगे तो ये शुक्रवार को खेलों के उदघाटन समारोह में भाग नहीं लेंगे। भारतीय टीम में आठ राइफल, पांच पिस्टल और दो स्कीट निशानेबाजों के अलावा छह कोच और एक फिजियो है। दल प्रमुख बी पी बैश्य ने कहा कि इसमें हिस्सा लेने वाले भारतीय खिलाड़ियों की संख्या पर फैसला गुरूवार को किया जायेगा। निशानेबाजों, मुक्केबाजों, तीरंदाजों के अलावा पुरुष और महिला हॉकी टीमों को उद्घाटन समारोह के अगले दिन प्रतिस्पर्धा पेश करनी है। मुक्केबाजी दल के एक सूत्र ने पीटीआई से कहा, ‘‘जिनका शनिवार को मुकाबला नहीं है, वो समारोह में हिस्सा लेंगे। ’’ 

इसे भी पढ़ें: टोक्यो ओलंपिक में भारत की आबादी में 4.4 फीसदी की भागीदारी रखने वाले हरियाणा और पंजाब के सबसे ज्यादा खिलाड़ी

भारत ने उद्घाटन समारोह के लिए पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह और छह बार की विश्व चैंपियन महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम को ध्वजवाहक बनाया है। मैरीकॉम को अगले दिन खेलों में हिस्सा नहीं लेना है लेकिन मनप्रीत अगले दिन न्यूजीलैंड के खिलाफ पूल ए मैच में भारतीय टीम की अगुआई करेंगे। वर्मा ने हाल में जापान के शहर पहुंचे खिलाड़ियों और अधिकारियों के संदर्भ में कहा, ‘‘जो लोग पृथकवास में हैं उन्हें भी हिस्सा लेने की स्वीकृति नहीं होगी।’’ बुधवार को मीडिया रिपोर्टों के अनुसार कोविड-19 के खतरे के चलते ब्रिटेन के 30 से ज्यादा एथलीट उद्घाटन समारोह में हिस्सा नहीं लेंगे। ब्रिटेन के ओलंपिक खेलों में 376 एथलीट शिरकत कर रहे हैं।