सिंधू बाहर, श्रीकांत और समीर हांगकांग ओपन के क्वार्टर फाइनल में

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 16, 2018   12:09
सिंधू बाहर, श्रीकांत और समीर हांगकांग ओपन के क्वार्टर फाइनल में

ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधू गुरुवार को हांगकांग ओपन विश्व टूर सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट के दूसरे दौर में हारकर बाहर हो गयी लेकिन किदांबी श्रीकांत और समीर वर्मा ने अपने-अपने मुकाबले जीतकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई।

कोवलून (हांगकांग)। ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधू गुरुवार को हांगकांग ओपन विश्व टूर सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट के दूसरे दौर में हारकर बाहर हो गयी लेकिन किदांबी श्रीकांत और समीर वर्मा ने अपने-अपने मुकाबले जीतकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। विश्व में चौथे नंबर की सिंधू को कोरिया की ह्यून जी सुंग से 24-26, 20-22 से हार का सामना करके बाहर का रास्ता देखना पड़ा। यह मैच 59 मिनट तक चला। सिंधू की हार से भारत की महिला एकल में चुनौती भी समाप्त हो गयी क्योंकि साइना नेहवाल पहले दौर से आगे नहीं बढ़ पायी थी। लेकिन पुरूष एकल में भारत के लिये अच्छा दिन रहा तथा श्रीकांत और समीर अंतिम आठ में जगह बनाने में सफल रहे। राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदक विजेता चौथे वरीय श्रीकांत ने हमवतन भारतीय एचएस प्रणय को कड़े मुकाबले में 18-21 30-29 21-18 से हराया। यह मैच एक घंटा और सात मिनट चला। श्रीकांत को अगले दौर में जापान के केंटा निशिमोतो और थाईलैंड के कांताफोन वांगचारोन के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ना है। समीर ने अपने ओलंपिक चैंपियन प्रतिद्वंद्वी चेन लोंग के चोट के कारण हटने पर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। वह शुक्रवार को डेनमार्क के हैंस क्रिस्टियन सोलबर्ग विटिंगस और स्थानीय दावेदार ली च्युक यू के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ेंगे।

पुलेला गोपीचंद अकादमी के दो ट्रेनियों के बीच हुए मैच में दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी श्रीकांत ने खराब शुरूआत के बाद वापसी की। पहले गेम में 9-9 पर दोनों बराबर थे जिसके बाद प्रणय ने 14-10 की बढ़त बना ली। श्रीकांत ने वापसी करते हुए स्कोर 15-15 किया लेकिन प्रणय ने धैर्य कायम रखते हुए पहला गेम जीत लिया। दूसरे गेम बेहद करीबी रहा। ब्रेक के समय श्रीकांत 11-10 से आगे थे लेकिन इसके बाद प्रणय ने 15-12 की बढ़त बना ली। श्रीकांत ने 16-16 पर बराबरी हासिल की जिसके बाद स्कोर 19-19 हुआ। इसके बाद दोनों खिलाड़ियों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली और श्रीकांत ने 30 अंक की शीर्ष सीमा हासिल करके गेम जीता। निर्णायक गेम में श्रीकांत ने जोरदार वापसी की। उन्होंने ब्रेक तक 11-4 की बढ़त बनाई लेकिन प्रणय ने 16-16 पर बराबरी हासिल कर ली लेकिन प्रणय ने गेम जीतकर मैच भी अपने नाम किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।