एशियाई चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंची पीवी सिंधू, हि बिंग जियाओ के खिलाफ हासिल की रोमांचक जीत

एशियाई चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंची पीवी सिंधू, हि बिंग जियाओ के खिलाफ हासिल की रोमांचक जीत
ANI pictures

सिंधू ने एक घंटे 16 मिनट तक चले क्वार्टरफाइनल में पांचवीं वरीयता प्राप्त चीन की खिलाड़ी को 21-9 13-21 21-19 से पराजित किया। सैयद मोदी इंटरनेशनल और स्विस ओपन में दो सुपर 300 खिताब जीतने वाली हैदराबाद की 26 साल की खिलाड़ी का सामना अब सेमीफाइनल में जापान की शीर्ष वरीय अकाने यामागुची से होगा।

फिलिपिंस के मनीला में बैडमिंटन का एशियाई चैंपियनशिप खेला जा रहा है। बैडमिंटन एशिया चैंपियनशिप में भारत को काफी उम्मीदें हैं। इन सबके बीच देश के लिए एक अच्छी खबर है। दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु ने बैडमिंटन एशिया चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। पीवी सिंधु ने चीन की हि बिंग जियाओ पर रोमांचक जीत हासिल की। इस जीत के साथ ही सिंधु ने इस चैंपियनशिप में खुद के लिए एक पदक भी पक्का कर लिया। जाहिर सी बात है कि आप भारत के लिए बेहद ही अच्छी खबर है। आपको बता दें कि बैडमिंटन एशिया चैंपियनशिप कोरोना महामारी की वजह से 2 सालों तक नहीं खेला गया था। 2 साल के लंबे अंतराल के बाद फिलहाल 2022 में फिलिपिंस के मनीला यह में खेला जा रहा है।

सिंधू ने एक घंटे 16 मिनट तक चले क्वार्टरफाइनल में पांचवीं वरीयता प्राप्त चीन की खिलाड़ी को 21-9 13-21 21-19 से पराजित किया। सैयद मोदी इंटरनेशनल और स्विस ओपन में दो सुपर 300 खिताब जीतने वाली हैदराबाद की 26 साल की खिलाड़ी का सामना अब सेमीफाइनल में जापान की शीर्ष वरीय अकाने यामागुची से होगा। दुनिया की सातवें नंबर की खिलाड़ी सिंधू का मैच पहले बिंग जियाओ के खिलाफ जीत का रिकॉर्ड 7-9 था, जिसे वह पहले पिछली दो भिड़ंत में हरा चुकी है। तोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के दौरान सिंधू ने बिंग जियाओ को हराया था और इस शीर्ष भारतीय खिलाड़ी ने फिर अंतिम चरण में दबाव से निपटते हुए रोमांचक मुकाबले में जीत दर्ज की। पूर्व विश्व चैम्पियन सिंधू ने शुरू से ही अपने इरादे जाहिर कर दिये थे, उन्होंने पहले गेम में बिना समय गंवाये 11-2 की बढ़त बना ली और फिर दबदबा कायम रखते हुए मैच में 1-0 से आगे हो गयीं। 

इसे भी पढ़ें: ‘खेलो इंडिया युवा खेलों-2021’ का आयोजन चार से 13 जून तक

बिंग जियाओ ने हालांकि दूसरे गेम में शानदार वापसी की और 6-4 की बढ़त को 11-10 तक पहुंचाने में सफल रहीं। ब्रेक के बाद चीन की खिलाड़ी ने लगातार पांच अंक बनाकर 19-12 की बढ़त बनाकर मैच में 1-1 की बराबरी हासिल कर ली। निर्णायक गेम में दोनों खिलाड़ी 2-2 से बराबर थीं लेकिन सिंधू ने अपने क्रास-कोर्ट स्मैश से अंक जुटाये और ब्रेक तक 11-5 से आगे हो गयीं। बिंग जियाओ ने हालांकि ब्रेक के बाद वापसी की और सिंधू की बढ़त को कम कर दिया। सिंधू एक समय 15-9 से आगे थीं लेकिन लय गंवाने के कारण 16-15 पर पहुंच गयीं। इसके बाद सिंधू 18-16 से आगे थीं और उन्होंने चार मैच प्वाइंट हासिल कर मैच जीत लिया।