खेल पुरस्कार की हो रही कड़ी आलोचना पर किरेन रीजीजू ने दिया ये जवाब

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 29, 2020   11:58
खेल पुरस्कार की हो रही कड़ी आलोचना पर किरेन रीजीजू ने दिया ये जवाब

खेल मंत्री किरेन ने रिकार्ड 74 खिलाड़ियों को खेल पुरस्कार देने के सरकार के फैसले का बचाव किया।रीजीजू ने शनिवार को कहा, ‘‘हमारे खिलाड़ियों का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन बेहतर हुआ है। जब हमारे खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करते हैं तो उन्हें सराहा और पुरस्कृत किया जाना चाहिए।

नयी दिल्ली। खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने शनिवार को सरकार के इस साल पांच राजीव गांधी खेल रत्न सहित रिकार्ड 74 खिलाड़ियों को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार से सम्मानित करने के फैसले का बचाव किया जिसकी कड़ी आलोचना हो रही है। खेल मंत्रालय की चयन समिति ने इस साल स्टार क्रिकेटर रोहित शर्मा और पहलवान विनेश फोगाट सहित पांच खिलाड़ियों को खेल रत्न जबकि 27 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार के लिये चुना। मंत्रालय ने द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिये 13 और ध्यानचंद पुरस्कारों के लिये 15 कोचों का चयन किया।

इसे भी पढ़ें: तोक्यो ओलंपिक को खलेगी शिंजो आबे की कमी, 2016 रियो ओलंपिक में ‘सुपर मारियो’ में आए थे नज़र

रीजीजू ने शनिवार को कहा, ‘‘हमारे खिलाड़ियों का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन बेहतर हुआ है। जब हमारे खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करते हैं तो उन्हें सराहा और पुरस्कृत किया जाना चाहिए। अगर सरकार उनकी उपलब्धियों को सम्मानित नहीं करती तो इससे भारत की उभरती हुई खेल प्रतिभाओं का उत्साह कम होगा। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसलिये पिछले वर्षों की तुलना में भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा जिसके कारण पुरस्कार विजेताओं की संख्या भी बढ़ी। ’’ खेल मंत्री ने कहा कि उनके मंत्रालय ने खेल पुरस्कारों पर फैसला नहीं किया क्योंकि विजेताओं का चयन उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता में स्वंतत्र समिति ने किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।