• तोक्यो जाने वाले खिलाड़ियों को सचिन तेंदुलकर ने दिया स्पेशल संदेश!

वर्चुअल कार्यक्रम में तेंदुलकर ने एथलीटों से कहा कि वे ओलंपिक में पदक जीतने के अपने सपने का बिना रुके पीछा करें। तेंदुलकर ने कहा, ‘‘काफी लोग कहते हैं कि खेल में हार और जीत होती है लेकिन मेरा संदेश है कि हार आपके विरोधी की हो और आप जीत दर्ज करें।

नयी दिल्ली। महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने तोक्यो ओलंपिक के लिए जाने वाली भारत की 26 सदस्यीय ट्रैक एवं फील्ड टीम से अपील की कि वे दबाव का लुत्फ उठाएं और इसे अपने ऊपर हावी नहीं होने दें। तेंदुलकर ने भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) के साथ खिलाड़ियों को ऑनलाइन विदाई दी। वर्चुअल कार्यक्रम में तेंदुलकर ने एथलीटों से कहा कि वे ओलंपिक में पदक जीतने के अपने सपने का बिना रुके पीछा करें। तेंदुलकर ने कहा, ‘‘काफी लोग कहते हैं कि खेल में हार और जीत होती है लेकिन मेरा संदेश है कि हार आपके विरोधी की हो और आप जीत दर्ज करें। आपको पदक जीतने की कोशिश करनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अपने सपनों का पीछा करना मत छोड़िए और आपका सपना गले में पदक पहनना, राष्ट्रगान का बजना और तिरंगे का लहराना होना चाहिए।’’

इसे भी पढ़ें: ICC महिला एक दिवसीय रैंकिंग में मिताली राज फिर टॉप पर, मंधाना टॉप-10 में शामिल

ट्रैक एवं फील्ड दल में 47 सदस्य शामिल हैं जिसमें 26 खिलाड़ियों के अलावा 11 कोच, आठ सहयोगी स्टाफ, एक टीम डॉक्टर और एक टीम नेतृत्वकर्ता है। यह दल 23 जुलाई को तोक्यो के लिए रवाना होगा। तेंदुलकर ने कहा कि दबाव सभी खेलों में खिलाड़ी का साथी है और यह अहम है कि इसका इस्तेमाल बेहतर प्रदर्शन के लिए किया जाए। उन्होंने कहा, ‘‘आपके बेहतर प्रदर्शन से लोगों की उम्मीदें बढ़ी हैं। यह अच्छी चीज है। मैंने हमेशा दबाव और लोगों की अपेक्षाओं का आनंद उठाया है। आपको इसे सकारात्मक ऊर्जा में बदलना होगा।’’ एथलेटिक्स की स्पर्धाओं का आयोजन  30 जुलाई से आठ अगस्त तक किया जाएगा। भारत को भाला फेंक के खिलाड़ी नीरज चोपड़ा से पदक की उम्मीद है।