राष्ट्रमंडल खेलों के उद्घाटन समारोह में भारत की ध्वजवाहक होंगी सिंधू

Sindhu
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
विजेता शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू को राष्ट्रमंडल खेलों के उद्घाटन समारोह के लिये बुधवार को भारतीय दल का ध्वजवाहक बनाया गया। सिंधू ने कहा, ‘‘इतने बड़े समारोह में दल की अगुआई करना और तिरंगा थामने की जिम्मेदारी दिये जाना बहुत सम्मान की बात है। मैं बहुत खुश हूं और मैं दल के अपने सभी साथियों को खेलों के लिये शुभकामनायें देती हूं। मुझे ध्वजवाहक चुनने के लिये मैं आईओए का भी धन्यवाद देना चाहूंगी। ’’

बर्मिंघम, 27 जुलाई।  दो बार की ओलंपिक पदक विजेता शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू को राष्ट्रमंडल खेलों के उद्घाटन समारोह के लिये बुधवार को भारतीय दल का ध्वजवाहक बनाया गया। सिंधू ने कहा, ‘‘इतने बड़े समारोह में दल की अगुआई करना और तिरंगा थामने की जिम्मेदारी दिये जाना बहुत सम्मान की बात है। मैं बहुत खुश हूं और मैं दल के अपने सभी साथियों को खेलों के लिये शुभकामनायें देती हूं। मुझे ध्वजवाहक चुनने के लिये मैं आईओए का भी धन्यवाद देना चाहूंगी। ’’

ओलंपिक चैम्पियन नीरज चोपड़ा को ध्वजवाहक बनाने की उम्मीद थी लेकिन विश्व चैम्पियनशिप में लगी ‘ग्रोइन’ चोट के कारण उन्हें राष्ट्रमंडल खेलों से हटने के लिये बाध्य होना पड़ा। चार साल पहले गोल्ड कोस्ट में स्वर्ण पदक जीतने वाले चोपड़ा ने विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक जीता था। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने फिर तीन खिलाड़ियों की सूची में से सिंधू का चयन किया। इसमें दो अन्य खिलाड़ी तोक्यो ओलंपिक पदक विजेता - भारोत्तोलक मीराबाई चानू और मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन थीं।

आईओए ने फैसला करने से पहले इन दोनों के नाम पर भी विचार किया था। आईओए के कार्यकारी अध्यक्ष अनिल खन्ना ने विज्ञप्ति में कहा, ‘‘यह घोषणा करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि सिंधू टीम इंडिया की ध्वजवाहक होंगी। ’’ सिंधू गोल्ड कोस्ट में 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में भी ध्वजवाहक थीं। इसमें कहा गया, ‘‘दो अन्य एथलीट चानू और बोरगोहेन भी इसके लिये योग्य थीं लेकिन सिंधू दो बार की ओलंपिक पदक विजेता हैं तो उन्हें तरजीह दी गयी। हम सिंधू से अच्छा प्रदर्शन जारी रखने की उम्मीद करेंगे। ’’

राष्ट्रमंडल खेलों के इस 2022 चरण में खेलों के इतिहास में महिला खिलाड़ियों का सबसे दल हिस्सा ले रहा है। खन्ना ने कहा, ‘‘इसलिये आईओए को लगा कि भारत के ध्वजवाहक की भूमिका के लिये तीन महिला खिलाड़ियों को ‘शार्टलिस्ट’ करके हम ओलंपिक चार्टर की भावना का पालन करते हुए लैंगिक समानता की अपनी प्रतिबद्धता दिखाते हैं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम उम्मीद करते हैं कि सिंधू जब उद्घाटन समारोह में भारतीय तिरंगा लेकर टीम इंडिया की अगुआई करेंगी तो इसे देखकर भारत में लाखों लड़कियां खेलों में आने के लिये प्रेरित होंगी। ’’

आईओए की चार सदस्यीय समिति ने ध्वजवाहक का चयन किया जिसमें महासचिव राजीव मेहता, कोषाध्यक्ष आनंदेश्वर पांडे और दल प्रमुख राजेश भंडारी भी शामिल थे। मेहता ने कहा, ‘‘हम उन्हें बधाई देते हैं और उन्हें व टीम इंडिया के अन्य खिलाड़ियों को राष्ट्रमंडल खेलों के लिये शुभकामनायें देते हैं। ’’ भारतीय दल प्रमुख भंडारी ने कहा कि गुरूवार को होने वाले उद्घाटन समारोह में देश के दल के अधिकतम 164 प्रतिभागी हिस्सा ले सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘164 में खिलाड़ी और टीम अधिकारी शामिल होंगे। अंतिम सूची आज शाम को तैयार हो जायेगी जो खिलाड़ियों की उपलब्धता पर निर्भर करेगी। ’’

भारत के कुल 215 खिलाड़ी राष्ट्रमंडल खेलों में भाग ले रहे हैं। पूर्व विश्व चैम्पियन सिंधू बर्मिंघम में महिला एकल स्वर्ण पदक जीतने की प्रबल दावेदारों में से एक हैं। उन्होंने गोल्ड कोस्ट और ग्लास्गो में पिछले दो चरण में क्रमश: रजत और कांस्य पदक जीते थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़