अगर पासवर्ड लीक हुआ तो Google खुद आपको अलर्ट करेगा, जानें सब कुछ गूगल के न्यू अपडेट के बारें में

Google assistant
Pexels
अनिमेष शर्मा । Jul 14, 2022 4:04PM
Google ने कहा है कि यदि आप Google Chrome का उपयोग कर रहे हैं और इस दौरान आपकी व्यक्तिगत जानकारी का खुलासा किया जाता है, तो Google Assistant आपको सचेत करेगा। इसे पूरा करने के लिए Google पासवर्ड चेकअप टूल का उपयोग करेगा।

पिछले महीने कंपनी ने Android फोन के लिए Google System Update v22.18 प्रकाशित किया था। यह अपडेट गूगल प्ले सर्विस के जरिए उपलब्ध कराया गया था। इसके अलावा, Google ने Google Play Store v30.3 अपडेट प्रकाशित किया है, जिसमें कई बग फिक्स शामिल हैं।

जब क्रेडेंशियल लीक हो जाते हैं, तो Google Assistant स्वचालित रूप से उपयोगकर्ताओं को सूचित करेगा। Google ने कहा है कि यदि आप Google Chrome का उपयोग कर रहे हैं और इस दौरान आपकी व्यक्तिगत जानकारी का खुलासा किया जाता है, तो Google Assistant आपको सचेत करेगा। इसे पूरा करने के लिए Google पासवर्ड चेकअप टूल का उपयोग करेगा। Google Assistant चेतावनी देगा और उपयोगकर्ताओं को अपना पासवर्ड बदलने और सुरक्षित पासवर्ड का उपयोग करने की सलाह देगा।

इसे भी पढ़ें: जानें सब कुछ, Google के Google TV स्ट्रीमिंग के साथ लॉन्च हुए नए chromecast के बारें में

Google Play Services v22.18 अद्यतन सुरक्षा और गोपनीयता को प्राथमिकता देता है। इसमें पासवर्ड चेकअप का एक नया संस्करण जोड़ा गया है, जो आपको सूचित करेगा कि आपका उपयोगकर्ता नाम या पासवर्ड लीक हो गया है। Google सहायक उपयोगकर्ता को उनके लिए स्वचालित रूप से एक पासवर्ड बनाने का विकल्प भी प्रदान करेगा।

उपयोगकर्ता Google Play Store v30.3 अपडेट के साथ एक तेज़ अनुभव देखेंगे। इसके अलावा, नए संस्करण में Play Pass और Play Point प्रोग्राम शामिल हैं। एंड्रॉइड ऑटो, एंड्रॉइड फोन, एंड्रॉइड टैब, एंड्रॉइड टीवी, वेयर ओएस और एंड्रॉइड टैब में बग्स को नवीनतम Google Play सेवा अपडेट के साथ ठीक किया गया है।

इसे भी पढ़ें: जानिए boAt के नए Airdopes जिसमें है सिर्फ 5 मिनट चार्ज में 75 मिनट की बैटरी

बता दें कि ऐपल और गूगल ने हाल ही में ऐप अपडेट को लेकर डेवलपर्स को चेतावनियां जारी की हैं। Apple और Google द्वारा सभी डेवलपर्स को सूचित किया गया है कि जो प्रोग्राम अपडेट नहीं होंगे उन्हें ऐप स्टोर से हटा दिया जाएगा। Pixalate की एक रिसर्च के मुताबिक, एपल के ऐप स्टोर और गूगल के प्ले-स्टोर पर मौजूद करीब 30 फीसदी ऐप्स को खत्म किया जा सकता है। अनुमान के मुताबिक करीब 15 लाख ऐप्स को स्थायी रूप से प्रतिबंधित या हटाया जा सकता है।

- अनिमेष शर्मा

अन्य न्यूज़