पूर्वोत्तर भारत में घूमने जाएं तो जरूर देखें यह जगहें

Ziro Valley
मिताली जैन । May 20, 2021 4:53PM
काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान सबसे अच्छे विकल्पों में से एक है। यह असम के सबसे पुराने पार्कों में से एक है जो संकटग्रस्त गैंडे के लिए प्रसिद्ध है। यहां पर यात्रा करने का सर्वोत्तम समय नवंबर से अप्रैल तक का माना जाता है।

गर्मी के दिनों में घूमने के लिए हर कोई ऐसी जगह की तलाश में रहता है, जहां उन्हें ना सिर्फ गर्मी से निजात मिले, बल्कि वह प्रकृति की खूबसूरती को भी करीबी से महसूस कर पाए। अगर आप भी ऐसी ही किसी जगह की तलाश में हैं तो नॉर्थ ईस्ट यकीनन एक बेहतरीन जगह है। जब आप उत्तर−पूर्व में होंगे, तो आप वहाँ पर कुछ बेहतरीन दृश्य देख पाएंगे। एक घाटी के बीच उगता हुआ सूरज पूर्वोत्तर अनुभव करने के लिए कुछ असाधारण स्थान है। तो चलिए आज हम आपको पूर्वोत्तर भारत में घूमने की कुछ बेहतरीन जगहों के बारे में बता रहे हैं−

इसे भी पढ़ें: तमिलनाडु में घूमने की यह हैं बेहतरीन जगहें, जानिए इनके बारे में

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान सबसे अच्छे विकल्पों में से एक है। यह असम के सबसे पुराने पार्कों में से एक है जो संकटग्रस्त गैंडे के लिए प्रसिद्ध है। यहां पर यात्रा करने का सर्वोत्तम समय नवंबर से अप्रैल तक का माना जाता है। यहां पर आपको स्तनधारियों की 35 प्रजातियां, एक सींग वाले गैंडे, मोर, हाथी, हिरण और विभिन्न पक्षियों की प्रजातियां देखने को मिलेंगी।

तवांग मठ

जब नॉर्थ ईस्ट में घूमने के लिए खूबसूरत जगहों का नाम लिया जाता है तो तवांग मठ यकीनन एक बेहतरीन जगह है। तवांग मठ भारत का सबसे बड़ा मठ है। यह अरुणाचल प्रदेश में 10,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और यह घाटी का शानदार दृश्य प्रदान करता है। यहां यात्रा करने का सर्वोत्तम समय अप्रैल से अक्टूबर का माना जाता है। आप वहां पर लगभग 850 मूर्तियों को देख सकते हैं।

नाथू ला दर्रा

उत्तर पूर्व भारत में घूमने के लिए प्रमुख स्थानों में से एक, नाथू ला दर्रा है। एक उत्कृष्ट ट्रेकिंग मार्ग के रूप में लोकप्रिय, यहां कुछ दिलचस्प गतिविधियों का आनंद लिया जा सकता है। उत्तर पूर्व में घूमने के लिए सभी अद्भुत स्थानों के बीच, यह स्थान सबसे लोकप्रिय है। आप यहां पर बर्फ की आश्चर्यजनक सुंदरता का अनुभव कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: नेपाल जाएं तो इन खूबसूरत जगहों को देखना ना भूलें

त्सोमो झील, सिक्किम

त्सोमो झील को चंगु झील के रूप में भी जाना जाता है। झील 12,400 फीट की ऊंचाई पर है और साल भर अलग दिखती है। वसंत में, झील का किनारा पूरी तरह से खिले हुए फूलों से ढंक जाता है, जबकि सर्दियों में यह जम जाता है। यहां पर यात्रा का सर्वोत्तम समय मार्च से मई और अक्टूबर से दिसंबर तक का माना जाता है।

जीरो घाटी

पहाड़ों से घिरी, जीरो घाटी अपातानी जनजाति का घर है। इस घाटी के आसपास कई ट्रैकिंग मार्ग हैं जो इसे पूर्वोत्तर भारत के सबसे लोकप्रिय एंडवेचर्स प्लेसेस में से एक बनाते हैं। प्राकृतिक सुंदरता के अलावा, जीरो घाटी पर्यटकों को स्थानीय संस्कृति और आदिवासी जीवन शैली में अंतर्दृष्टि प्रदान करती है। यहां पर जाने का सबसे अच्छा समय मार्च से अक्टूबर तक का माना जाता है। यहां पर आप तारिन मछली फार्म, तल्ली घाटी वन्यजीव अभयारण्य, मेघना गुफा मंदिर, शिवलिंग आदि को एक्सप्लोर कर सकते हैं।

मिताली जैन

अन्य न्यूज़