उत्तर प्रदेश में हैं घूमने की कई बेहतरीन जगहें, जानिए इनके बारे में

उत्तर प्रदेश में हैं घूमने की कई बेहतरीन जगहें, जानिए इनके बारे में

इलाहाबाद, जिसे अब आधिकारिक रूप से प्रयागराज के रूप में जाना जाता है, भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश में स्थित एक शहर है। प्रयागराज त्रिवेणी संगम या तीन नदियों− गंगा, यमुना और सरस्वती के मिलन स्थल के लिए प्रसिद्ध है। प्रयाग या प्रयागराज इलाहाबाद शहर का प्राचीन नाम था।

उत्तर प्रदेश भारत में सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य है। यह ऐतिहासिक, प्राकृतिक और धार्मिक दृष्टि से एक बेहतरीन पर्यटन स्थल माना जाता है। दुनिया के सात अजूबों में शामिल ताजमहल भी उत्तर प्रदेश के आगरा में ही स्थित है। इसके अलावा, यहां पर अयोध्या, वृंदावन, वाराणसी और प्रयागराज जैसी कई बेहतरीन जगहें हैं, जहां पर हर साल लाखों सैलानी आते हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको उत्तर प्रदेश में घूमने की कुछ बेहतरीन जगहों के बारे में बता रहे हैं−

इसे भी पढ़ें: पार्वती घाटी में घूमने की हैं कई बेहतरीन जगहें

आगरा

अगर उत्तर प्रदेश में घूमने की जगहों की बात हो तो इसमें सबसे पहला नाम आगरा का आता है। यहां पर आने वाले वाले सैलानी प्यार की निशानी माने जाने वाले और दुनिया के सात अजूबों में शामिल ताजमहल को तो देखते हैं ही, साथ ही यहां पर दो अन्य यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों आगरा फोर्ट और फतेहपुर सीकरी को भी देखा जा सकता है, जो मुगल साम्राज्य की वास्तुकला के इतिहास और विरासत की एक झलक पेश करते हैं। बता दें कि आगरा उत्तर प्रदेश के सबसे अधिक आबादी वाले शहरों में से एक है और भारत में 24 वां सबसे अधिक आबादी वाला शहर है।

वाराणसी

वाराणसी की गिनती भारत ही नहीं, दुनिया के सबसे पुराने शहरों में होती है। इसे कभी काशी व बनारस के नाम से भी जाना जाता था। यह भारत की आध्यात्मिक राजधानी है। यह हिंदू धर्म के सात पवित्र शहरों में से एक है। वाराणसी का पुराना शहर गंगा के पश्चिमी किनारे पर स्थित है, जो संकरी गलियों की भूलभुलैया में फैला है। वाराणसी के लगभग हर मोड़ पर मंदिर हैं, लेकिन काशी विश्वनाथ मंदिर सबसे अधिक देखा जाता है और सबसे पुराना है। वाराणसी को मृत्यु के लिए एक शुभ स्थान माना जाता है, क्योंकि यह माना जाता है कि यहां मरने वाला व्यक्ति जीवन और मृत्यु के चक्र से मुक्ति प्राप्त कर लेता है।

इसे भी पढ़ें: भारत की इन जगहों के प्राकृतिक सौंदर्य को देखकर आप भी रह जाएंगे चकित

वृंदावन

यमुना के किनारे सबसे पुराने शहरों में से एक, वृंदावन को कृष्ण के भक्तों के लिए सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थानों में से एक माना जाता है। कहा जाता है कि भगवान कृष्ण ने अपना बचपन वृंदावन में बिताया था। वृंदावन शहर में भगवान कृष्ण और राधा के कई मंदिर स्थित है, लेकिन सबसे प्रसिद्ध मंदिर बांके बिहारी मंदिर और विश्व प्रसिद्ध इस्कॉन मंदिर हैं। यमुना नदी के पानी के साथ, वृंदावन की जंगल और हरी−भरी हरियाली के बीच कई मंदिर यहां के प्रमुख आकर्षण हैं।

प्रयागराज

इलाहाबाद, जिसे अब आधिकारिक रूप से प्रयागराज के रूप में जाना जाता है, भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश में स्थित एक शहर है। प्रयागराज त्रिवेणी संगम या तीन नदियों− गंगा, यमुना और सरस्वती के मिलन स्थल के लिए प्रसिद्ध है। प्रयाग या प्रयागराज इलाहाबाद शहर का प्राचीन नाम था। प्र का अर्थ है "पहला" और याग का अर्थ है "भक्ति"। यहां पर महा कुंभ मेले का भी आयोजन किया जाता है, जो बारह साल में यहां आयोजित होता है और दुनिया भर से लाखों तीर्थयात्रियों द्वारा इसमें भाग लिया जाता है। इलाहाबाद किला ऐतिहासिक महत्व का एक और स्मारक है और यूनेस्को द्वारा मान्यता प्राप्त एक विरासत स्थल है। अकबर के शासनकाल के दौरान र्निमित, यह किला मुग़ल काल के शिल्प और शिल्प कौशल का भी बेहतरीन नमूना है। प्रयागराज में घूमने के लिए अन्य लोकप्रिय स्थानों में आनंद भवन, ऑल सेंट कैथेड्रल, चंद्र शेखर आज़ाद पार्क और इलाहाबाद संग्रहालय शामिल हैं। बता दें कि प्रयागराज का उल्लेख हिंदू धर्म ग्रंथ महाभारत में कौशाम्बी के रूप में मिलता है, जिस स्थान पर हस्तिनापुर के कुरु शासकों ने अपनी राजधानी बनाई थी। 

मिताली जैन







This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept