2020 तक वैष्णो देवी मंदिर का अपना आपदा प्रतिक्रिया बल होगा

vaishno-devi-temple-will-have-its-own-disaster-response-force-by-2020
उन्होंने कहा कि पहाड़ी इलाके को ध्यान में रखते हुए मंदिर बोर्ड और एनडीआरएफ ने इस वर्ष की शुरुआत में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया था

जम्मू। माता वैष्णो देवी मंदिर के पास अगले वर्ष सितम्बर तक अपना आपदा प्रतिक्रिया बल होगा। यह जानकारी रविवार को एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी। इस मंदिर में प्रति वर्ष दुनिया भर से लाखों श्रद्धालु आते हैं। श्री माता वैष्णो देवी मंदिर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सिमरनदीप सिंह ने कहा कि किसी भी तरह की आपदा की स्थिति में सबसे पहले पहुंचने वाले बोर्ड के कर्मचारियों का प्रशिक्षण पंजाब में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की सातवीं बटालियन के मुख्यालय में शुरू हो चुका है।

जम्मू क्षेत्र के रियासी जिले के त्रिकूटा की पहाड़ियों पर स्थित मंदिर में पिछले वर्ष 86 लाख श्रद्धालु पहुंचे थे जो पिछले पांच वर्षों में सबसे ज्यादा है। सिंह ने कहा, ‘‘25 कर्मचारियों के पहले जत्थे का छह हफ्ते का प्रशिक्षण 18 मई को शुरू हुआ और यह लगभग पूरा होने वाला है। हम मंदिर का अपना आपदा प्रतिक्रिया बल बनाने के लिए 180 कर्मचारियों को प्रशिक्षण देने की योजना बना रहे हैं।’’

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में पिछले 24 घंटे में नौ हत्याएं, AAP ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

उन्होंने कहा कि पहाड़ी इलाके को ध्यान में रखते हुए मंदिर बोर्ड और एनडीआरएफ ने इस वर्ष की शुरुआत में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया था। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे जिन कर्मचारियों की सेवा 15 से 20 वर्ष बची हुई है और जो तंदुरूस्त हैं, उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। इन कर्मचारियों में सुरक्षा, चिकित्सा एवं सहयोग शाखा, सफाईकर्मी, रिसेप्शनिस्ट, सेल्समैन और खानपान सेवा शाखा के लोग शामिल होंगे।’

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़