National Voters Day 2023 | लोकतंत्र में क्या होता है मतदाता के मतदान का महत्व, जानें राष्ट्रीय मतदाता दिवस का इतिहास

voter
Pixabay free license
रेनू तिवारी । Jan 25, 2023 6:16PM
हर साल मतदाता दिवस 25 जनवरी को पड़ता है, जो भारत के चुनाव आयोग की स्थापना दिवस को भी चिह्नित करता है। वर्ष 1950 में भारत का पहला चुनाव आयोग अस्तित्व में आया था। यह दिन मतदान के अधिकार की याद दिलाता है और मतदाताओं के मतदान और नामांकन की अवधारणा पर केंद्रित है।

हर साल मतदाता दिवस 25 जनवरी को पड़ता है, जो भारत के चुनाव आयोग की स्थापना दिवस को भी चिह्नित करता है। वर्ष 1950 में भारत का पहला चुनाव आयोग अस्तित्व में आया था। यह दिन मतदान के अधिकार की याद दिलाता है और मतदाताओं के मतदान और नामांकन की अवधारणा पर केंद्रित है। भारत का लोकतंत्र मतदान के अधिकार में निहित है। भारत में मतदाताओं की सक्रिय भागीदारी बढ़ाने के लिए इस दिन का अपना महत्व है। राष्ट्र को देश के भविष्य के विकास के लिए युवा पीढ़ी द्वारा चुने जाने वाले सही नेता की आवश्यकता है।

राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2023: इतिहास

25 जनवरी, 2011 को पहली बार भारत में राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया गया। इस दिन का इतिहास तब से जुड़ा है जब चुनाव आयोग ने 1 जनवरी को 18 वर्ष की आयु के पात्र मतदाताओं को ढूंढना शुरू किया। बाद में उन्होंने खुद को मतदाता के रूप में नामांकित किया और चुनावी फोटो पहचान पत्र (ईपीआईसी) सौंप दिया गया।

इसे भी पढ़ें: जामिया में BBC की Documentry का स्क्रीनप्ले न होने से नाराज छात्रों का प्रदर्शन, 4 को हिरासत में लिया गया

राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2023: थीम

इस वर्ष के राष्ट्रीय मतदाता दिवस का विषय है 'चुनावों को समावेशी, सुलभ और सहभागी बनाना।'

राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2023: शुभकामनाएं और संदेश

मतदाता दिवस का अवसर हम सभी को याद दिलाता है कि हममें से प्रत्येक के लिए मतदान के अपने अधिकार का प्रयोग करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। 

 

मतदाता के मतदान का महत्व

सभी को मतदाता दिवस की बहुत बहुत बधाई। यदि आप मतदान नहीं करते हैं, तो आपको शिकायत करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि आप सिस्टम का हिस्सा नहीं हैं। भाग लेने और बदलाव लाने के लिए मतदान करें। एक-एक वोट मायने रखता है और इसलिए हमें कभी भी एक वोट की ताकत को कम नहीं आंकना चाहिए। मतदाता दिवस के अवसर पर सभी को हार्दिक बधाई।

इसे भी पढ़ें: Ramcharitmanas पर टिप्पणी को लेकर चौतरफा घिरे पिता के बचाव में आईं भाजपा सांसद संघमित्रा

राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर सभी को हार्दिक शुभकामनाएं। मतदान हमारा सबसे महत्वपूर्ण कर्तव्य है और हमें इसे बिना चूके पूरा करना चाहिए। अगर हम आज मतदान नहीं करते हैं, तो हम अपने देश में बदलाव लाने का एक अवसर खो देंगे। राष्ट्रीय मतदाता दिवस का अवसर हम सभी को याद दिलाता है कि एक लोकतांत्रिक देश में मतदान सबसे महत्वपूर्ण चीज है। हमें मतदान करने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहिए क्योंकि यह हमारी शक्ति है और हमें इसका भरपूर उपयोग करना चाहिए।  हम तभी विकसित हो सकते हैं जब हमारा देश आगे बढ़े और हमारा वोट हमारे देश को सफलता और प्रगति के पथ पर ले जाने की ताकत रखे। हर चुनाव का निर्धारण उन लोगों द्वारा किया जाता है जो दिखाते हैं।  यदि हम मतदान नहीं करते हैं, तो हम इतिहास की उपेक्षा कर रहे हैं और भविष्य को त्याग रहे हैं।  हम सबके अंदर कहीं न कहीं दुनिया को बदलने की ताकत है। समकालीन दुनिया में लोकतंत्र, अन्य बातों के अलावा, शिक्षित और सूचित लोगों की मांग करता है। 

अन्य न्यूज़