Nagasaki Peace Day: जानें कैसे 77 साल पहले एक परमाणु हथियार ने तबाह कर दिया पूरा शहर

 nagasaki peace day
google creative
यह उस समय की बात है जब द्वितीय विश्व युद्ध अपनी निर्णायक स्थिति में पहुंच रहा था। 1945 में संयुक्त राज्य अमेरिका ने हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमला किया था। इस हमले से दोनों ही शहर पूरी तरह बर्बाद हो गए। इस हमले के कुछ ही देर में डेढ़ लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो गई।

जापान के नागासाकी पर अमेरिका ने 9 अगस्त 1945 को लड़ाकू विमान से परमाणु बम गिराया था। इस हमले में 70 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। शांति की राजनीति को बढ़ावा देने और नागासाकी पर बम हमले के भयावह प्रभावों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल 9 अगस्त को नागासाकी दिवस मनाया जाता है। इस साल नागासाकी पर परमाणु हमले की 77वीं वर्षगांठ हैं।  


9 अगस्त 1945 को हुआ था नागासाकी पर परमाणु हमला 

यह उस समय की बात है जब द्वितीय विश्व युद्ध अपनी निर्णायक स्थिति में पहुंच रहा था। 1945 में संयुक्त राज्य अमेरिका ने हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमला किया था। इस हमले से दोनों ही शहर पूरी तरह बर्बाद हो गए। इस हमले के कुछ ही देर में डेढ़ लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। जो बच भी गए थे अपंग हो गए। इसके बाद परमाणु विकरण के कारण बीमारियों से लोगों की मौत होती रही। इसका असर दशकों तक रहा। इसके बाद 15 अगस्त 1945 को जापान ने आत्मसमर्पण कर दिया था। जिसके बाद द्वितीय विश्व युद्ध समाप्त हो गया था। 2 सितंबर 1945 को आत्मसमर्पण के औपचारिक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे।

क्यों मनाया जाता है नागासाकी दिवस? 

नागासाकी शांति दिवस पीड़ितों को याद करने, शांति को बढ़ावा देने और अधिक युद्धों से बचने और परमाणु हथियारों की विनाशकारी क्षमता के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल मनाया जाता है।

अन्य न्यूज़