चौतरफा आलोचना के बाद अमिताभ बच्चन की अपने ब्लॉग पर सफाई, कहा- योजना बनाकर नहीं लिखा

चौतरफा आलोचना के बाद अमिताभ बच्चन की अपने ब्लॉग पर सफाई, कहा- योजना बनाकर नहीं लिखा

अभिनेता अमिताभ बच्चन का कहना है कि वह अपने ब्लॉग पर कोई योजना बनाकर लिखना शुरू नहीं करते हैं, बल्कि अपनी भावनाओं और सोच को लिखते चले जाते हैं।

मुंबई। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन हाल ही में कोरोना वायरस से जंग लड़ कर घर वापस आये हैं। अमिताभ बच्चन के परिवार में अभिषेक बच्चन, ऐश्वर्या राय, आराध्या को भी कोरोना वायरस का संक्रमण हो गया था जिसके बाद इन सभी को नानावती अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इस दौरान अभिताभ बच्चन ने नानावती हॉस्पिटल को लेकर एक वीडियो जारी किया था जिसमें उन्होंने अस्पताल की काफी तारीफ की थी। इस वीडियो के सामने आने के बाद अमिताभ बच्चन की लोगों ने काफी अलोचना भी की। इसके बाद अमिताभ बच्चन पर नकली हिन्दू होने का भी सोलश मीडिया पर आरोप लगाया गया। अमिताभ पर आरोप लगा कि वह हर छोटी से छोटी चीज पर अपनी प्रतिक्रिया देते हैं तो राम मंदिर के निर्माण पर उन्होंने क्यों कोई पोस्ट नहीं की? ऐसे कई सवालों से सोशल मीडिया पर अमिताभ बच्चन को घेरा गया। अब इन सभी मुद्दों पर अमिताभ ने बहुत ही सादगी ने अपनी पोस्ट को लेकर जवाब दिया हैं।

इसे भी पढ़ें: जैकलीन फर्नांडीज पर हुआ सलमान खान का असर, कर डाला समाज के हित के लिए इतना बड़ा काम

अभिनेता अमिताभ बच्चन का कहना है कि वह अपने ब्लॉग पर कोई योजना बनाकर लिखना शुरू नहीं करते हैं, बल्कि अपनी भावनाओं और सोच को लिखते चले जाते हैं। बच्चन सोशल मीडिया पर खासे सक्रिय रहते हैं और नियमित रूप से अपने प्रशंसकों को अपडेट रखने के लिए अपने ब्लॉग पर अपने जीवन, स्वास्थ्य इत्यादि के बारे में लिखते रहते हैं। शनिवार की देर रात 77 वर्षीय अभिनेता ने लिखा कि उनके कई प्रशंसक अक्सर उनसे सवाल करते हैं कि वह कैसे तय करते हैं कि उन्हें क्या लिखना है।

इसे भी पढ़ें: कंगना रनौत की जान को खतरा? पुलिस ने बढ़ाई घर की सुरक्षा, मां ने झटपट करवाई ये पूजा

बच्चन ने लिखा, ‘‘क्या यह कोई पहले से सोच पाता है? क्या रात होने तक आपके मन में विचार आ जाता है?’’ उन्होंने लिखा, “इन सबका जवाब है नहीं। जैसे ही टम्बलर साइट खुलती है और दिन, तारीख तथा समय आते हैं तो सब विचार बस बहते चले जाते हैं।” बच्चन ने कहा कि जब वह लिखने बैठते हैं तो उनके दिमाग में अचानक से जो भी आता है, उस बारे में लिखते चले जाते हैं। अभिनेता ने कहा कि कंप्यूटर पर लिखते समय उन्हें अपने अगले विचार के लिए पर्याप्त समय मिल जाता है।