कॉमेडियन राजपाल यादव को उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद का चेयरमैन बना सकती है योगी सरकार

कॉमेडियन राजपाल यादव को उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद का चेयरमैन बना सकती है योगी सरकार
ani

उत्तर प्रदेश सरकार से जुड़े सूत्रों से जानकारी मिली है कि योगी सरकार फिल्म अभिनेता राजपाल यादव को उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद का चेयरमैन बना सकती है। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनावों की तैयारी सरकार ने अभी से ही शुरू कर दी है।

राजनीति में फिल्मी सितारों की एंट्री का चलन आज का नहीं बल्कि बरसो पुराना है। कई नामचीन सितारों ने पहले सिनेमा में नाम कमाया फिर देश की राजनीति का हिस्सा बनें और सत्ता में राज किया। ताजा समाचारों की माने तो कॉमेडियन राजपाल यादव की एंट्री भी राजनीति में होने जा रही हैं। उत्तर प्रदेश सरकार से जुड़े सूत्रों से जानकारी मिली है कि योगी सरकार फिल्म अभिनेता राजपाल यादव को उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद का चेयरमैन बना सकती है। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनावों की तैयारी सरकार ने अभी से ही शुरू कर दी है ऐसे में अपने वोट बैंक पर पकड़ बनाएं रखने के लिए योगी सरकार ये प्रयोग करने जा रही हैं। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली और पंजाब के बीच हुआ नॉलेज शेयरिंग एग्रीमेंट, केजरीवाल ने बताया क्या है ये समझौता

आपको बता दें कि कुच दिनों पहले ही राजपाल यादव और दिनेश लाल यादव (निरहुआ) ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी जिसकी तस्वीरें भी उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर की थी। इस मुलाकात के बाद से ही यह अटकलें बढ़ने लगी कि योगी सरकार राजपाल यादव को एक बड़ी जिम्मेदारी दे सकती हैं। साल 2021 में उत्तर प्रदेश में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी ने समाजवादी पार्टी को काटे की टक्कर दी थी अब लोकसभा चुनाव के दौरान योगी सरकार समाजवादी पार्टी के यादव वोट काटने के लिए राजपाल यादव को अपने पाले में लाना चाहती हैं।

इसे भी पढ़ें: अल्पसंख्यकों से भेदभाव, योगी के बयान, पत्रकारों पर FIR, भारत को बदनाम करने वाली अमेरिकी रिपोर्ट में और क्या-क्या?

दिनेश लाल यादव (निरहुआ) की बात करें तो माना जा रहा है कि एक बार फिर से बीजेपी आजमगढ़ लोकसभा सीट से निरहुआ को मैदान में उतारने वाली हैं। बता दें कि विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव को जीत मिलने के बाद उन्होंने आजमगढ़ के सांसद पद से इस्तीफा दे दिया था तब से यह सीट खाली है।