हजारों गरीबों की सहायता के बाद अब सलमान खान ने इस तरह की मुंबई पुलिस की मदद

हजारों गरीबों की सहायता के बाद अब सलमान खान ने इस तरह की मुंबई पुलिस की मदद

हाल ही में सलमान खान ने अपना हेंड सेनेटाइजर भी लॉन्च किया। सलमान खान ने FRSH नाम से सेनेटाइज लॉन्च किया और लोगों से कोरोना काल में सेनेटाइजर यूज करने की अपील भी की। अब खबरें आ रही है कि अभिनेता सलमान खान ने मुंबई पुलिस को हैंड सैनिटाइजर दान किया है।

बॉलीवुड के भाईजान सलमान खान भले ही लॉकडाउन के दौरान पनवेल वाले फार्म हाउस में क्वारंटाइन हो लेकिन किसी काम में पीछे नहीं हटे हैं। सलमान खान ने लॉकडाउन के दौरान बॉलीवुड के 25 हजार डैली वर्कर्स की मदद की। उनके खाने-दवाई का खर्चा उठाया। गरीबों को लगातार राशन बांटे। किसी न किसी रूप में गरीबों की मदद करते रहे। क्वारंटाइन के दौरान उन्होंने अपने फैंस को भी नाराज नहीं किया उन्होंने पनवेल वाले फार्म हाउस से तीन गाने रिलीज किए। प्यार कोरोना, तेरे बिना, भाई-भाई, इन तीनों गाने को उनके फैंस ने पसंद किया।

इसे भी पढ़ें: फिलहाल पार्ट 2 गाने की फेक कास्टिंग पर भड़के अक्षय कुमार, लिख डाला लंबा-चौड़ा नोट

हाल ही में सलमान खान ने अपना हेंड सेनेटाइजर भी लॉन्च किया। सलमान खान ने FRSH नाम से सेनेटाइज लॉन्च किया और लोगों से कोरोना काल में सेनेटाइजर यूज करने की अपील भी की। अब खबरें आ रही है कि अभिनेता सलमान खान ने मुंबई पुलिस को हैंड सैनिटाइजर दान किया है। इस बात की जानकारी युवा सेना के सदस्य राहुल कनाल ने ट्वीट करके दी।

इसे भी पढ़ें: एक महीने पहले इरफान खान ने दुनिया को कहा था अलविदा, पत्नी सुपता ने लिखा बेहद भावुक पोस्ट

उन्होंने लिखा सलमान, जिसने हाल ही में एक पर्सनल केअर ब्रांड FRSH लॉन्च किया था, ने मुंबई पुलिस विभाग को FRSH ब्रांड के हैंड सैनिटाइज़र डोनेट किए हैं । अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों की सुरक्षा में मुस्तैदी से डटे मुंबई पुलिस भी सलमान से ये मदद पाकर बेहद खुश हैं ।

 सलमान कोविद -19 लॉकडाउन में भी हर माध्यम से लोगों की सहायता करके की अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं। कुछ समय पहले, उन्होंने 32,000 दिहाड़ी मजदूरों को वित्तीय सहायता प्रदान की थी और ऑल इंडिया स्पेशल आर्टिस्ट्स एसोसिएशन (AISAA), एफडब्ल्यूआईसीई के एक विंग के साथ जुड़े 90 चुनौतीपूर्ण मजदूरी कर्मचारियों की मदद की थी।

सुपरस्टार ने अपने फार्महाउस के आसपास के गांवों के लिए भोजन और अन्य संसाधनों की भी व्यवस्था की थी और लगभग 2500 परिवारों की जरूरतों को पूरा किया था।