BSNL के कर्मचारी 25 नवंबर को करेंगे भूख हड़ताल, जानें पूरा मामला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2019   12:53
BSNL के कर्मचारी 25 नवंबर को करेंगे भूख हड़ताल, जानें पूरा मामला

एयूएबी का दावा है कि कंपनी के आधे से अधिक कर्मचारी उसके साथ जुड़े हैं। अभिमन्यु ने यह भी कहा कि हम वीआरएस योजना के खिलाफ नहीं है, जो कर्मचारी इसे अपने लिए अच्छा मानते हैं तो वह इसे लें, यह योजना निचले स्तर के कर्मचारियों के लिए फायदेमंद नहीं है, लेकिन उन्हें इसे स्वीकार करने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

नयी दिल्ली। बीएसएनएल के कर्मचारी यूनियनों ने 25 नवंबर को देशव्यापी भूख हड़ताल बुलायी है। कर्मचारी यूनियनों का आरोप है कि कंपनी प्रबंधन कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) लेने के लिए मजबूर कर रहा है। ऑल इंडिया यूनियंस एंड एसोसिएशंस ऑफ भारत संचार निगम लिमिटेड (एयूएबी) के संयोजक पी. अभिमन्यु ने कहा कि प्रबंधन कर्मचारियों को धमका रहा है कि यदि वह वीआरएस नहीं लेते हैं तो उन्हें दूर भेजा जा सकता है और उनकी सेवानिवृत्ति उम्र की आयु घटाकर 58 वर्ष की जा सकती है।

इसे भी पढ़ें: MTNL के 13500 कर्मचारियों ने किया VRS के लिए आवेदन

एयूएबी का दावा है कि कंपनी के आधे से अधिक कर्मचारी उसके साथ जुड़े हैं। अभिमन्यु ने यह भी कहा कि हम वीआरएस योजना के खिलाफ नहीं है, जो कर्मचारी इसे अपने लिए अच्छा मानते हैं तो वह इसे लें, यह योजना निचले स्तर के कर्मचारियों के लिए फायदेमंद नहीं है, लेकिन उन्हें इसे स्वीकार करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि इसे जबरदस्ती थोपा गया तो हम सोमवार से भूख हड़ताल करेंगे।

इसे भी पढ़ें: BSNL का साथ छोड़ने जा रहे हैं 77,000 कर्मचारी, वीआरएस योजना को चुना

बीएसएनएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशकपी. के. पुरवार के अनुसार 77,000 से अधिक कर्मचारियों ने वीआरएस का चुनाव किया है। कंपनी में कुल 1.6 लाख कर्मचारी हैं और यह घाटे में है। कंपनी का अनुमान है कि यदि 70 से 80 हजार कर्मचारी वीआरएस लेकर निकल जाते हैं तो कंपनी का वेतन खर्च सालाना करीब 7,000 करोड़ रुपये कम हो जाएगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।