चन्नी की व्यापारियों के खिलाफ वैट के 40,000 मामलों को खत्म करने की घोषणा

Channi
प्रतिरूप फोटो
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने बुधवार को कहा कि शेष 8,000 मामलों के निपटारे से लिए संबंधित व्यापारियों से कुल बकाया कर का केवल 30 प्रतिशत वसूला जाएगा। इस प्रकार व्यापारियों को इस मामले में होने असुविधा से बचाया जा सकेगा।

लुधियाना| पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने बुधवार को व्यापारियों और उद्योगपतियों के खिलाफ मूल्य वर्धित कर (वैट) के कुल 48,000 मामलों में से 40,000 लंबित मामलों को खत्म करने की घोषणा की।

ये मामले वित्त वर्ष 2014-15, 2015-16 और 2016-17 के हैं। मुख्यमंत्री ने चौथे प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन के दूसरे दिन ए स्टोरी ऑफ़ पार्टनरशिप, डिलिवरी एंड ग्रोथ: इन्वेस्टर्स रिएश्योर्ड विषय पर उद्योगपतियों, व्यापारियों और संभावित उद्यमियों को संबोधित करते हुए यह घोषणा की।

इसे भी पढ़ें: उद्योग ने विकास को बढ़ावा देने के लिए लेदर पार्क योजना की मांग की

उन्होंने कहा कि शेष 8,000 मामलों के निपटारे से लिए संबंधित व्यापारियों से कुल बकाया कर का केवल 30 प्रतिशत वसूला जाएगा। इस प्रकार व्यापारियों को इस मामले में होने असुविधा से बचाया जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि व्यापारियों को चालू वित्त वर्ष के दौरान कर देयता का केवल 20 प्रतिशत और शेष 80 प्रतिशत अगले वित्त वर्ष तक जमा करना होगा।

मुख्यमंत्री ने क्षेत्र में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए सर्वोत्तम हवाई संपर्क का आश्वासन देते हुए 15 नवंबर को लुधियाना के हलवारा में नए हवाईअड्डे की आधारशिला रखने की भी घोषणा की। इस हवाईअड्डे का काम आठ महीने के भीतर पूरा कर लिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: बैंक ऋण 6.48 प्रतिशत बढ़ा

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़