कमर्शियल वाहनों की बिक्री सामान्य होने में लग सकता है उम्मीद से अधिक समय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 28, 2020   15:31
कमर्शियल वाहनों की बिक्री सामान्य होने में लग सकता है उम्मीद से अधिक समय

रेटिंग एजेंसी ने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में एमएचसीवी की बिक्री में पिछले साल के मुकाबले 35-45 प्रतिशत की गिरावट आ सकती है, हालांकि एलसीवी की बिक्री में गिरावट 20-25 प्रतिशत तक रहने का अनुमान है।

नयी दिल्ली। इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च (इंडरा) के मुताबिक भारत में व्यापक आर्थिक संकेतकों में सुधार के बावजूद वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री सामान्य होने में उम्मीद से अधिक समय लग सकता है। इंडरा ने कहा कि ई-कॉमर्स खंड में गतिविधियों में बढ़ोतरी के कारण हल्के वाणिज्यिक वाहनों (एलसीवी) खंड में सुधार की शुरुआत हो चुकी है, लेकिन मध्यम और भारी वाणिज्यिक वाहन (एमएचसीवी) की बिक्री 2021-22 की चौथी तिमाही से पहले सामान्य होने की उम्मीद नहीं है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में एमएचसीवी की बिक्री में पिछले साल के मुकाबले 35-45 प्रतिशत की गिरावट आ सकती है, हालांकि एलसीवी की बिक्री में गिरावट 20-25 प्रतिशत तक रहने का अनुमान है।

इसे भी पढ़ें: म्यूजिक कंपनी Tips इंडस्ट्रीज ने फेसबुक के साथ किया वैश्विक लाइसेंसिंग समझौता

इंडरा ने एक बयान में कहा, ‘‘वित्त वर्ष 2021-22 में उद्योग दो अंकों में वृद्धि हासिल कर सकता है। ऐसा खासतौर से वित्त वर्ष 2020-21 के कम आधार प्रभाव के चलते होगा।’’ फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) के आंकड़ों का हवाला देते हुए इंडरा ने कहा कि वाणिज्यिक वाहनों की खुदरा बिक्री में नवंबर 2020 में वृद्धि हुई (अक्टूबर के मुकाबले 13 प्रतिशत), हालांकि यह इससे पिछले साल दर्ज की गई औसत मासिक बिक्री से काफी कम है। नवंबर में बिक्री पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 31 प्रतिशत घटी थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।