भारत में कच्चे इस्पात का उत्पादन मार्च में एक प्रतिशत घटा

crude-steel-production-in-india-decreased-by-1-percent-in-march
एसोसिएशन ने कहा, ‘‘वैश्विक स्तर पर कच्चे इस्पात का उत्पादन मार्च 2019 में 15.5 करोड़ टन रहा जो मार्च 2018 के 14.77 करोड़ टन के मुकाबले 4.9 प्रतिशत अधिक है।’’

नयी दिल्ली। देश में कच्चे इस्पात का उत्पादन इस साल मार्च में एक प्रतिशत घटकर 94.12 लाख टन रहा।विश्व इस्पात संगठन की रिपोर्ट में यह कहा गया है। दुनिया भर के इस्पात उद्योग के प्रमुख संगठन ‘वर्ल्ड स्टील एसोसियेसन’ की रिपोर्ट के मुताबिक भारत ने एक साल पहले इसी महीने में 95.06 लाख टन इस्पात का उत्पादन किया था। जनवरी के बाद यह दूसरा मौका है जब कच्चे इस्पात का उत्पादन घटा है।

इसे भी पढ़ें: सिएटल में एक क्रेन के गिरने से 4 लोगों की मौत, 8 घायल

देश में जनवरी में कच्चे इस्पात के उत्पादन में 1.9 प्रतिशत की गिरावट आयी जबकि फरवरी में इसमें 2.3 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी। एसोसिएशन ने कहा, ‘‘वैश्विक स्तर पर कच्चे इस्पात का उत्पादन मार्च 2019 में 15.5 करोड़ टन रहा जो मार्च 2018 के 14.77 करोड़ टन के मुकाबले 4.9 प्रतिशत अधिक है।’’

इसे भी पढ़ें: हुंदै बिजली चालित वाहनों के लिए भारत में तलाश रही है संभावनाएं

चीन में मार्च महीने में कच्चे इस्पात का उत्पादन 8.033 करोड़ टन रहा जो मार्च 2018 के 7.305 करोड़ टन के मुकाबले 10 प्रतिशत अधिक है। वहीं जापान में कच्चे इस्पात का उत्पादन मार्च 2019 में 91 लाख टन पर स्थिर रहा। अमेरिका में कच्चे इस्पात का उत्पादन 78 लाख टन रहा जो पिछले साल मार्च के मुकाबले 5.7 प्रतिशत अधिक है। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़